यूपी निर्वाचन आयोग ने जारी की मतदाता सूची रिवीजन की तारीख, जानें कब होगा चुनाव!

44

लखनऊ। कोरोना के लगातार बढ़ते संक्रमण के बीच उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग ने अपनी तैयारियां प्रारंभ कर दी है। आयोग के दिशा निर्देशों के मुताबिक आने वाले एक अक्टूबर से उत्तर प्रदेश में मतदाता सूची का पुन:अवलोकन किया जाएगा। इस बारे में राज्य चुनाव आयोग ने विस्तृत कार्यक्रम जारी कर दिया है। ऐसे में आयोग द्वारा की जा रही तैयारियों को देखते हुए एक बात साफ हो गई कि यूपी में अब तय वक़्त पर पंचायत चुनाव नहीं हो सकेंगे। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आने वाले 25 दिसम्बर को पंचायत के सभी सदस्यों का कार्यकाल समाप्त हो रहा है।

यह भी पढ़ें:-सिंगल चार्ज में Ranault Kwid चलेगी 150 किलोमीटर, जानिए इलेक्ट्रिक कार के शानदार फीचर

ऐसे में 25 दिसम्बर से पहले राज्य चुनाव आयोग को पंचयात चुनाव करा लेना था। लेकिन आयोग की ओर जारी वोटर सूची के पुनरीक्षण कार्यक्रम घोषित करने के बाद ये तय है कि चुनाव की तिथि आगे बढ़ाई जाएगी। ऐसे में पंचायत के सदस्यों के जो कार्यकाल 25 दिसम्बर को खत्म होने के बाद उन्हें अगली चुनाव तक उनकी कुर्सी पर बिठाया जाएगा।

1- 1 अक्टूबर से 12 नवम्बर तक – बीएलओ द्वारा घर-घर जाकर गणना एवं सर्वेक्षण।

2- 1 अक्टूबर से 5 नवम्बर तक- ऑनलाइन आवेदन करने की अवधि।

3- 6 नवम्बर से 12 नवम्बर तक- ऑनलाइन प्राप्त आवेदन पत्रों की घर-घर जाकर जांच करने की अवधि।

यह भी पढ़ें:-ये पांच पौधे चमका सकते हैं आपकी किस्मत, होगी पैसों की बारिश

4- 13 नवम्बर से 5 दिसम्बर तक- ड्राफ्ट नामावलियों की कम्प्यूटराइज्ड लिस्ट तैयार करना।

5- 6 दिसम्बर तक- ड्राफ्ट मतदाता सूची का प्रकाशन।

6- 6 दिसम्बर से 12 दिसम्बर तक- ड्राफ्ट नामावली का निरीक्षण।

7- 6 दिसम्बर से 12 दिसम्बर तक- दावे एवं आपत्तियां प्राप्त करना।

8- 13 दिसम्बर से 19 दिसम्बर तक- दावे एवं आपत्तियों का निस्तारण।

9- 29 दिसम्बर- निर्वाचक नामावलियों का जन सामान्य के लिए अंतिम प्रकाशन।

यह भी पढ़ें:-चीन मुद्दे पर बोले राजनाथ, हम किसी भी परिस्थितियों से निपटने को तैयार