महिलाओं के मुसीबत में ये Helpline Numbers आते हैं काम, मोबाइल में कर लें सेव

Helpline Numbers for Women: केंद्र से लेकर राज्य सरकार महिलाओं की सुरक्षा को लेकर लगातार प्रयास करती रहती है। महिला सुरक्षा के लिए कई अभियान भी चलाए जाते हैं। महिलाओं की सुरक्षा को सरकार की ओर से मजबूत करने के लिए अलग-अलग समस्याओं को लेकर विभिन्न हेल्पलाइन नंबर जारी किए गए हैं।

260

Helpline Numbers for Women: केंद्र से लेकर राज्य सरकार महिलाओं की सुरक्षा (Helpline Numbers for Women) को लेकर लगातार प्रयास करती रहती है। महिला सुरक्षा के लिए कई अभियान भी चलाए जाते हैं। महिलाओं की सुरक्षा को सरकार की ओर से मजबूत करने के लिए अलग-अलग समस्याओं को लेकर विभिन्न हेल्पलाइन नंबर जारी किए गए हैं। किसी मुसीबत या समस्या में फंसने पर सहायता की गुहार लगाने के लिए महिलाओं को एक विशेष हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है, जो 1090 और 1091 है।

यदि कोई महिला किसी घरेलू हिंसा का शिकार होती हैं तो वह अपनी शिकायत हेल्पलाइन नंबर 181 पर कॉल कर दर्ज करा सकती हैं। वहीं चाइल्ड हेल्पलाइन के लिए 1098 हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है। यदि वह पुलिस से किसी प्रकार की मदद चाहती हैं तो उसके लिए वह 100 या 112 पर कॉल कर सकती हैं।

वहीं अगर अपने हक की बात करने और उसके लिए शिकायत करने के लिए वह राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग को 14433 पर कॉल कर अपनी समस्या या परेशानी बता सकती हैं। रेल में यात्रा के समय महिलाओं को यदि किसी प्रकार की परेशानी होती है तो उसकी शिकायत के लिए 182 हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है।