बंगाल में हुए रेल हादसे पर कांग्रेस ने केंद्र सरकार पर खड़े किए सवाल, दिलाई नीतीश कुमार के इस्तीफा की याद

बुरी तरह से क्षतिग्रस्त तीन बोगियों के अंदर रेलवे की टीम रेस्क्यू ऑपरेशन में जुटी हुई है। वही इस हादसे के बाद सियासत गरमा गई है और कांग्रेस ने केंद्र सरकार पर हमला बोला है। कांग्रेस ने बंगाल में हुए रेल हादसे पर मोदी सरकार की लापरवाही का सबूत बताया है।

47
Train Accident

Train Accident: पश्चिम बंगाल में हुए आज रेल हादसे ने सभी का दिल दहला दिया है। इस हादसे में काम से कम 8 लोगों की मौत हो चुकी है और 30 यात्री घायल हुए हैं। सियालदह जा रही कंचनजंगा एक्सप्रेस को पीछे से मालगाड़ी की टक्कर लगने से उसके तीन डिब्बे बेपटरी हो गए। बुरी तरह से क्षतिग्रस्त तीन बोगियों के अंदर रेलवे की टीम रेस्क्यू ऑपरेशन में जुटी हुई है। वही इस हादसे के बाद सियासत गरमा गई है और कांग्रेस ने केंद्र सरकार पर हमला बोला है। कांग्रेस ने बंगाल में हुए रेल हादसे पर मोदी सरकार की लापरवाही का सबूत बताया है।

केंद्र सरकार पर कांग्रेस ने बोला हमला

केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए कांग्रेस ने कहा, पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी में यूआरएल हादसा मोदी सरकार की लापरवाही का सबूत है। एक तरफ देश में रेल हादसे थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ रेल मंत्री सारी जिम्मेदारियां से दूर रेलवे के खोखले PR और रील बनाने में व्यस्त हैं। वहीं कांग्रेस ने नीतीश कुमार के इस्तीफे की याद भी दिला दी है।

नीतीश कुमार के इस्तीफा की दिलाई याद

कांग्रेस ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर लिखा,’पश्चिम बंगाल के देश जानता है कि रील मिनिस्टर अश्विनी वैष्णव न तो इस्तीफा देंगे और न ही जवाबदेही की मांग पर कोई प्रतिक्रिया देंगे। जबकि एनडीए गठबंधन के प्रमुख सहयोगी नीतीश कुमार ने एक बार दुर्घटना के कारण इस्तीफा दे दिया था। वहीं, वैष्णव को उनके पिछले कार्यकाल के दौरान रिकॉर्ड संख्या में दुर्घटनाओं के लिए पुरस्कृत किया गया था।’ दरअसल आपको बता दे 1999 में पश्चिम बंगाल और बिहार की सीमा पर एक बहुत बड़ा रेल हादसा हुआ था जिसमें 290 लोगों की मौत हो गई थी। तकनीकी कारणों और खामियों के चलते हुए भीषण हादसे के बाद रेल मंत्री नीतीश कुमार ने इस्तीफा दे दिया था।

Read More-कोलकाता के बीजेपी ऑफिस में मिली ‘बम’ जैसी चीज, जांच में जुटी पुलिस