अगर आपको भी है थायरॉइड की समस्या तो इन 5 तरह के फूड्स से बना लें दूरी

Thyroid Problem : यदि आपको थायरॉइड की परेशानी है, तो कुछ खास प्रकार के फ़ूड्स से पूरी तरह से दूरी बनानी होगी। ये फूड्स आपकी थायरॉइड कंडीशन को और भी अधिक बिगाड़ सकते हैं और आपके लिए मुश्किलें खड़ी कर सकते हैं। हम सभी जानते हैं थायरॉइड ग्रंथि से जुड़ी परेशानी पुरूषों से ज्यादा महिलाओं में देखने को मिलता है।

161

Thyroid Problem : यदि आपको थायरॉइड की परेशानी है, तो कुछ खास प्रकार के फ़ूड्स से पूरी तरह से दूरी बनानी होगी। ये फूड्स आपकी थायरॉइड कंडीशन को और भी अधिक बिगाड़ सकते हैं और आपके लिए मुश्किलें खड़ी कर सकते हैं। हम सभी जानते हैं थायरॉइड ग्रंथि से जुड़ी परेशानी पुरूषों से ज्यादा महिलाओं में देखने को मिलता है। सर्वेक्षणों से ज्ञात हुआ है कि भारत में हर 8 महिलाओं में से 1 को थायरॉइड की समस्याएं है। वहीं कुल मिलाकर देश में 42 मिलियन से अधिक लोग इस बीमारी से पीड़ित हैं। तो आइये हम उन 5 फूड्स के बारे में बात करते हैं जिनसे थायरॉइड के मरीजों को दूरी बना लेनी चाहिए। ये जानकारी आपके लिए बहुत ही उपयोगी साबित होगी।

सोया

सोया एक ऐसी चीज है जिसे थायरॉइड के मरीजों के लिए खतरा है क्योंकि सोया में गोइट्रोजेन नामक एक तत्व होता है,जो थायरॉइड ग्रंथि को नुकसान पहुंचाता है। ये गोइट्रोजेन थायरॉइड हार्मोन के साथ प्रतिक्रिया करके उसे ब्लॉक कर देता है जिससे थायरॉइड ठीक से काम नहीं कर पाती। इसलिए यदि आपको थायरॉइड की परेशानी है तो सोया आधारित सभी चीजें जैसे सोया दूध, टोफू आदि को पूरी तरिके से अपने डाइट से हटा देना चाहिए।

कैबेज और अन्य ब्रैसिकास सब्जियों से बनाये दूरी

ब्रैसिका वेजीज जैसे कैबेज, फूलगोभी, ब्रोकोली जैसी सब्जियां थायरॉइड के लिए बिल्कुल नहीं खाना चाहिए। इस प्रकार की सब्जियां गोइट्रोजेन नामक एंटी-थायरॉइड कम्पाउंड्स से भरपूर होती हैं जो थायरॉइड के सामान्य कार्य में बाधा पैदा करती हैं। इन सब्जियों के ज्यादा सेवन से थायरॉइड ग्रंथि पर अधिक दबाव पड़ता है जिससे हार्मोन स्राव में गड़बड़ी हो सकती है। इसलिए थायरॉइड, हाइपोथायरॉइडिज्म या ग्रेव्स डिजीज जैसी परेशानी से जूझ रहे लोगों को इन सब्जियों का इस्तेमाल बिल्कुल नहीं करना चाहिए।

कैफीन

कैफीन के कारण थायरॉइड ग्रंथि में थायरॉइड हार्मोन बनने की प्रक्रिया को काफी प्रभावित होती है। जिससे हार्मोन का स्तर बहुत ही खराब हो सकता है। इसलिए थायरॉइड के मरीजों को कम से कम कैफीन लेना चाहिए या फिर इससे परहेज करना चाहिए।

जंक फूड

थायरॉइड की परेशानी से जूझ रहे लोगों को जंक फूड यानी कि फास्ट फूड से भी दूरी बना लेनी चाहिए। आमतौर पर इस प्रकार का खाना बहुत ज्यादा वसा, नमक और कैलोरी से भरपूर होता है जो थायरॉइड के लिए बिल्कुल सही नहीं है।

प्रोसेस्ड खाद्य पदार्थ

प्रोसेस किए गए पैकेट भोजन जैसे – नूडल्स, सॉस, केचप, जैम, मैजिक मसाला आदि थायरॉइड के मरीजों के लिए बिल्कुल भी लाभकारी नहीं होते हैं। प्रोसेस्ड खाद्य पदार्थ से भी थायरॉइड के मरीजों को दूरी बना लेनी चाहिए।