प्रेमिका के प्यार के बना हैवान, 5 महिलाओं को दी दर्दनाक मौत

दोनों एक दूसरे के 24 किलोमीटर दूर पाए गए. आधे बिना सिर वाले महिलाओं के शवों के रहस्य को सुलझाने के लिए जांच की जरूरत पड़ गई, जिसके बाद यह पूरा सच सामने आया. दोनों ने 5 महिलाओं को मारने की योजना बनाई थी.

528
crime

Karnataka: आए दिन दिल दहला देने वाले मामले सामने आते रहते हैं. ऐसा ही एक मामला कर्नाटक के सामने आया है, जहां 35 साल टी सिद्धलिंगप्पा और उसकी प्रेमिका चंद्रकला ने बहुत ही क्रूरता से हत्या की, जिसके बाद पुलिस भी यह जानकर भौचक्का रह गई. दोनों फिलहाल राज्य की जेल में बंद है. दोनों एक दूसरे के 24 किलोमीटर दूर पाए गए. आधे बिना सिर वाले महिलाओं के शवों के रहस्य को सुलझाने के लिए जांच की जरूरत पड़ गई, जिसके बाद यह पूरा सच सामने आया. दोनों ने 5 महिलाओं को मारने की योजना बनाई थी.

प्रेमिका को खुश करने के लिए किया ऐसा

जांच में पता चला कि केंद्र लिंगप्पा ने अपनी प्रेमिका को खुश करने के लिए ऐसा किया था. उसने पुलिस को कहा कि महिलाओं भयानक अंत इसलिए हुआ, क्योंकि उन्होंने उसकी प्रेमिका को वेश्यावृत्ति के लिए मजबूर किया था. इससे नाराज होकर के उनको मौत दे दी.

असल में, कर्नाटक के मांड्या जिले में 8 जून को एक जल नहर के पास अलग-अलग स्थानों पर दो महिलाएं कटे हुए शव पाए गए. शवों का ऊपरी हिस्सा कटा था और शरीर में कटा हुआ था. हत्यारों ने दोनों महिलाओं के शरीर का आधा भाग अलग-अलग नहर में फेंक दिया था.

के. बेट्टनहल्ली के पास बेबी लेक नहर में एक कटा हुआ शव प्राप्त किया गया. दूसरा अरकेरे गांव के पास जीडीएस नहर में मिला. क्षत-विक्षत शवों के पैर बांधे हत्यारों की बर्बरता के वहां के लोग सदमे में आ गए थे और इसके इलाके में तनावपूर्ण स्थिति आ गई.

जिले के पुलिस अधीक्षक सतीश ने बताया कि “यह एक भयावह घटना थी. हमें उम्मीद नहीं थी कि कोई महिला उसके साथ शामिल होगी, यह हमारे लिए एक झटका था.हमें समझ नहीं आया कि ये हत्याएं क्यों और किसने कीं.वह वास्तव में कुछ और महिलाओं को मारने की योजना बना रहा था.”

इससे आगे पुलिस अधीक्षक ने कहा यह पैसे का मामला नहीं है. वह महिला उसकी प्रेमिका थी. हालांकि उसका एक परिवार था फिर भी भी वह उसके साथ रहता था जिन महिलाओं की हत्या की है. उसमें वेश्यावृत्ति में धकेल दिया था. यतीश ने कहा कि सिद्धलिंगप्पा अपनी प्रेमिका को लेकर बहुत संवेदनशील था, जिस वजह से उसने यह हत्याएं की. उन्होंने बोला कि “हमें भविष्य में ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए सावधान रहना होगा. शवों की पहचान करना बहुत मुश्किल था. पहचान होने के बाद चार-पांच दिन में ही हत्यारे पकड़ लिये गये. हत्याएं सबसे क्रूर थीं, हम इस पर अधिक टिप्पणी नहीं कर सकते.”

इस तरह शव की करी पहचान

पुलिस टीम ने छात्र-छात्राओं के बारे में आसपास की जगहों में 10,000 पर्चे बांटे. हत्या की गई महिलाओं की पहचान का पता लगाया इस मामले को सुलझाने के लिए 9 स्पेशल टीम और दो टेक्निकल टीम बनाई गई. पुलिस ने राज्य और पड़ोसी राज्य में लापता महिलाओं के 1116 मामलों का सत्यापन किया है. दोहरे हत्याकांड का पता तब चला. जब चामराज नगर पुलिस स्टेशन में गीता की गुमशुदगी का केस सामने आया था. पुलिस ने मामले की जांच गीता और बरामद शव के बीच समानताएं थीं.

दोनों ने पूछताछ के दौरान यह बात कबूली कि उन्होंने बेंगलुरु में कुमुदा नाम की एक महिला की हत्या की थी. उन्होंने कहा कि कुमुदा के शव को वह बाइक पर ले गए और कहीं फेंक दिया था. राम नगर जिले के सुदूर शहर के पास पुलिस ने कोडीहल्ली कॉलोनी निवासी सिद्धलिंगप्पा और मांड्या जिले के पांडवपुरा शहर के पास हरवु गांव निवासी उसकी प्रेमिका चंद्रकला को गिरफ्तार किया.

Read More-कांवड़ियों के ऊपर हाईटेंशन तार गिरने से हुआ दर्दनाक हादसा, 5 की मौत, कई झुलसे