दिल्ली में बढ़ रहा बाढ़ का खतरा, 205.5 के पार हुआ यमुना का जलस्तर

रात आठ बजे लोहे के पुराने रेलवे पुल का जलस्तर 205.5 मीटर दर्ज किया गया है. बीते दिन यमुनानगर स्थित हथिनीकुंड बैराज पर प्रवाह दर 30,000 क्यूसेक से लेकर 50,000 क्यूसेक के मध्य रहा. इससे सभी लोग परेशान है.

578
Yamuna Water level

Yamuna Water level: देश की राजधानी दिल्ली के बहुत से हिस्सों में बुधवार को तेज बारिश के कारण यमुना नदी का जलस्तर काफी ऊपर आ गया है, जिससे खतरा बढ़ गया है. यमुना का जलस्तर खतरे के निशान से 205.33 मीटर पार कर चुका है. केंद्रीय जल आयोग के जो आंकड़े सामने आये हैं, उसके अनुसार रात आठ बजे लोहे के पुराने रेलवे पुल का जलस्तर 205.5 मीटर दर्ज किया गया है. बीते दिन यमुनानगर स्थित हथिनीकुंड बैराज पर प्रवाह दर 30,000 क्यूसेक से लेकर 50,000 क्यूसेक के मध्य रहा. इससे सभी लोग परेशान है.

यहां पर हुई अधिक बारिश

भारत मौसम विभाग के हिसाब से एक अगस्त तक बादल रहेंगे. इसी के साथ ही बारिश होने के भी आसार हैं. इस दौरान न्यूनतम तापमान 24 से 27 डिग्री और अधिकतम तापमान 31 से 37 के बीच रहने की आशा है. दिल्ली में आईएमडी ने आज येलो अलर्ट जारी कर दिया है. गुरुवार को सुबह के आसमान में बादल बने रहेंगे. इसी के साथ ही गरजने के साथ औसत बारिश भी हो सकती है.

भारत मौसम विज्ञान विभाग के आंकड़ों के हिसाब से बुधवार की सुबह आठ बजकर 30 मिनट पर खत्म हुए पिछले 24 घंटे की अवधि में सफदरजंग मौसम केंद्र पर 37.1 मिलीमीटर बारिश देखी गई. इसी तरह से लोधी रोड, आयानगर, मुंगेशपुर और मयूर विहार के मौसम केंद्रों ने क्रमश: 35.1 मिलीमीटर, 26 मिमी, 53.5 मिमी और 110.5 मिलीमीटर बारिश होने के बारे में पता चला है. बुधवार सुबह में दिल्ली के मयूर विहार इलाके में सबसे अधिक 111 एमएम बारिश दर्ज की गयी है. बता दें कि पिछले 24 घंटों के दौरान अधिकतम तापमान 31.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो कि सामान्य तापमान से चार डिग्री कम है. इसी तरीके से न्यूनतम तापमान 23.8 डिग्री दर्ज किया गया जो सामान्य से तीन डिग्री कम है.

इसे भी पढ़ें-UAE में हाथ लगा विक्रम बराड़, सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड में था नाम