Moose Wala हत्याकांड में हुआ बड़ा खुलासा, पाकिस्तान का कनेक्शन आया सामने

हथियार सप्लाई करने वाले की पहचान हामिद के तौर पर की गई थी. सिद्धू मूसेवाला की हत्या से पहले हामिद ने दुबई में लॉरेंस बिश्नोई गिरोह (Lawrence Bishnoi Gang) के बुलंदशहर स्थित एक आर्म्स डीलर से भी मुलाकात की थी.

476
Sidhu moose wala

Sidhu Moose Wala Murder Case: कांग्रेस नेता और पंजाबी सिंगर सिद्दू मूसेवाला की हत्या पिछले साल हुई थी. अब एक साल बाद उनकी हत्या कांड में एक नया खुलासा हुआ है. हत्याकांड में पाकिस्तानी कनेक्शन सामने आ गया है. राष्ट्रीय जांच एजेंसी के हिसाब से दुबई स्थित पाकिस्तानी हथियार आपूर्तिकर्ता ने बीते साल सिद्धूमूसेवाला की हत्या में इस्तेमाल किए गए हथियारों की आपूर्ति की थी. हथियार सप्लाई करने वाले की पहचान हामिद के तौर पर की गई थी. सिद्धू मूसेवाला की हत्या से पहले हामिद ने दुबई में लॉरेंस बिश्नोई गिरोह (Lawrence Bishnoi Gang) के बुलंदशहर स्थित एक आर्म्स डीलर से भी मुलाकात की थी.

दुबई का दौरा करता था आर्म डीलर

एक जांच में पता चला है कि एक आर्म डीलर को एनआईए द्वारा 8 दिसंबर 2022 को बुलंदशहर से अरेस्ट किया गया था. जिसने कई बार दुबई का दौरा किया और इन दौरो से मिला जो एक पाकिस्तानी नागरिक है और दुबई में हवाला ऑपरेटर के तौर पर काम करता है.

बुलंदशहर के आर्म्स डीलर को फैजी खान से मिलवाया जो एक पाकिस्तानी नागरिक और हथियार तस्कर भी है. ऐसे ही एक बैठक के दौरान अंसारी और हामिद ने हथियारों की तस्करी के कारोबार और भारत में हथियार और गोला-बारूद की खेप की आपूर्ति के बारे में बात की.

29 मई 2022 का मामला

बता दें कि पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला (Sidhu Moose Wala) की पंजाब के मानसा के जवाहर के गांव में गोलियों से भूनकर हत्या हुई थी. जब वह बिना सुरक्षा के अपने कुछ दोस्तों के साथ कार में सवार होकर कहीं जा रहे थे, जब गाड़ी मनसा पहुंची वहां छह हमलावरों ने घेरकर अंधाधुंध फायरिंग कर दी और मुसेवाला को मार दिया. बाद में इस हत्या की जिम्मेदारी लॉरेंस बिश्नोई ग्रुप के सदस्य गोल्डी बराड़ ने ली थी. मुसेवाला की हत्या मामले में शामिल चार शूटर गिरफ्तार हो चुके हैं, जबकि दो अन्य काउंटर में मारे जा चुके हैं.

Read More-सीमा हैदर के भारत आने पर बौखलाए पाकिस्तानी डकैत, मंदिर पर किया हमला, हिंदू परिवारों को बनाया बंधक