सावन में बेलपत्र चढ़ाते समय इन बातों का रखें विशेष ध्यान, बरसेगी भोले बाबा की कृपा, जाने नियम

सावन के महीने में भगवान शिव को बेलपत्र चलाना बहुत ही शुभ माना जाता है। लेकिन ज्योतिष से में बेलपत्र चढ़ाने के कुछ नियम भी बताए गए हैं जिनको करने से भोले बाबा की कृपा आप को प्राप्त होगी।

899
Sawan 2023

Sawan 2023: ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सावन का महीना बहुत ही पवित्र माना जाता है इस दौरान भगवान शिव की पूजा की जाती है। कहते हैं कि जो भी इंसान सावन के महीने में पूरी श्रद्धा से भगवान शिव की पूजा करता है उसकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं। इस बार सावन का महीना 4 जुलाई 2023 से शुरू होने जा रहा है। 31 अगस्त 2023 तक रहेगा। इस बार सावन तो पडने वाले हैं क्योंकि सावन के महीने में मलमास भी लग रहा है। सावन के महीने में भगवान शिव को बेलपत्र चलाना बहुत ही शुभ माना जाता है। लेकिन ज्योतिष से में बेलपत्र चढ़ाने के कुछ नियम भी बताए गए हैं जिनको करने से भोले बाबा की कृपा आप को प्राप्त होगी।

जाने बेलपत्र चढ़ाने के नियम

-शास्त्रों के अनुसार बेलपत्र को चढ़ाते समय इस बात का विशेष ध्यान रखें कि कोई भी बेलपत्र कटा- फटा नही होना चाहिए।

-आपको बता दे बेलपत्र को कभी भी सोमवार के दिन नहीं तोड़ना चाहिए। बेलपत्र हमेशा एक दिन पहले ही तोड़ कर रख लेनी चाहिए।

-वहीं अगर आपको बेलपत्र नहीं मिल पा रही है तो आप इसे बार- बार भी चढ़ा सकते हैं। बेलपत्र को धुल ले उसके बाद महादेव को फिर से समर्पित कर दें।

-ज्योतिष शास्त्र के अनुसार बेलपत्र के पेड़ को कभी भी काटना नहीं चाहिए बहुत ही अशुभ माना जाता है। अगर कहीं बेलपत्र का पेड़ लगा है तो उसे बढ़ते रहने देना चाहिए।

-सोमवार के अलावा बेलपत्र को अमावस्या सक्रांति, नवमी, अष्टमी और चतुर्थी को भी नहीं तोड़ना चाहिए। ऐसा करने से महादेव रुष्ट हो जाते हैं।

(Disclaimer: यहां पर प्राप्त जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है। News India इसकी पुष्टि नहीं करता है।)

Read More-दो बड़े ग्रहों के युति से बनेगा बहुत ही अशुभ योग, इन राशि वालों के जीवन में छाएंगे संकट के बादल