दो बड़े ग्रहों के युति से बनेगा बहुत ही अशुभ योग, इन राशि वालों के जीवन में छाएंगे संकट के बादल

सिंह राशि का मंगल के लिए अनुकूल माना जाता है। लेकिन सिंह में मंगल शनि के साथ समसप्तक योग बना रहे हैं जो बहुत ही अशुभ माना जाता है। कुछ राशि के जातकों के लिए समसप्तक योग मुश्किलें खड़ी कर सकता है।

1077
Samsaptaka Yog

Samsaptaka Yog: ज्योतिष शास्त्र के अनुसार ग्रहों के गोचर और युति का प्रभाव सभी 12 राशियों पर पड़ता है। कुछ ग्रहों की युति से बहुत ही अशुभ योगों का निर्माण होता है जिससे आपके जीवन में संकट के बादल छा जाते हैं। 2 दिन बाद ग्रहों के सेनापति मंगल 1 जुलाई को रात 1:52 पर सिंह राशि में गोचर करेंगे मंगल को अग्नि का कारक माना जाता है। सिंह राशि का मंगल के लिए अनुकूल माना जाता है। लेकिन सिंह में मंगल शनि के साथ समसप्तक योग बना रहे हैं जो बहुत ही अशुभ माना जाता है। कुछ राशि के जातकों के लिए समसप्तक योग मुश्किलें खड़ी कर सकता है।

मेष राशि: ज्योतिष शास्त्र के अनुसार मंगल आपकी राशि में पंचम भाव में गोचर करने जा रहे हैं। वही शनि एकादश भाव में विराजमान रहेंगे। जिससे आपको कठिनाइयों का सामना करना पड़ेगा। कोई भी मामला विनम्रता पूर्वक संभाल ले नहीं तो सब बिगड़ सकता है।

मकर राशि: ज्योतिष शास्त्र के अनुसार मंगल और शनि की युति से समसप्तक योग इस राशि वालों के लिए बहुत ही अशुभ होने वाला है। तनाव बढ़ सकता है पूजा पाठ से विशेष लाभ होगा। वाणी में मधुरता लाने का प्रयास करें।

कन्या राशि: मंगलवार की राशि में द्वादश भाव पर गोचर करने जा रहे हैं। इस के छठे भाव में शनि विराजमान है इस दौरान आपके लिए समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं। कार्यक्षेत्र में मुसीबतों का सामना करना पड़ेगा। स्वास्थ्य खराब होगा।

(Disclaimer: यहां पर प्राप्त जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है। News India इसकी पुष्टि नहीं करता है।)

Read More-वेस्टइंडीज के बाद इस देश का दौरा करेगी Team India, BCCI ने जारी किया शेड्यूल