फिर छिड़ा नया संग्राम! उदयनिधि के सफाई देने के बाद अब इन्होंने दिया सनातन धर्म पर आपत्तिजनक बयान

किसी धर्म से कोई मतभेद नहीं है। उदय निधि द्वारा सफाई देने के बाद अब राष्ट्रीय जनता दल के नेता जगदानंद सिंह और डीएमके के सांसद ए राजा ने सनातन धर्म की तुलना एचआईवी से की है।

276
Stalin Sanatana Dharma Row

Udhayanidhi Stalin Controversy: तमिलनाडु के खेल मंत्री उदयनिधि स्टालिन के विवादित बयान का सिलसिला अभी थमा नहीं था अब दो और नेताओं ने सनातन धर्म को लेकर आपत्तिजनक बयान दे दिया है। खेल मंत्री ने अपने विवादित बयान को लेकर सफाई भी दी है उन्होंने कहा कि उनके बयान का गलत मतलब निकल गया है उनका किसी धर्म से कोई मतभेद नहीं है। उदय निधि द्वारा सफाई देने के बाद अब राष्ट्रीय जनता दल के नेता जगदानंद सिंह और डीएमके के सांसद ए राजा ने सनातन धर्म की तुलना एचआईवी से की है।

जगदानंद ने दिया विवादित बयान

राजद के नेता और लालू प्रसाद यादव के बेहद करीबी जगदानंद भी सनातन धर्म पर चल रहे विवाद के बीच कूद पड़े हैं और उन्होंने कहा कि टीका लगाकर घूमने वालों ने ही देश को गुलाम बनाया है। आप लोग संघ ने गरीबों को कुचला, संघ ने जादू टोना करना सिखाया ,टीका लगाकर घूमने वाले लोगों ने भारत को गुलाम बनाया है। वही ए राजा ने भी सनातन धर्म को लेकर बहुत ही विवादित बयान दे डाला है।

डीएमके सांसद ने दिया आपत्तिजनक बयान

डीएमके सांसद ए राजा ने सनातन धर्म को लेकर आपत्तिजनक बयान देते हुए कहा कि, “सनातन धर्म पर उदय निधि का रुख नरम था सनातन की तुलना सामाजिक कलंक वाली बीमारियों से की जानी चाहिए। सनातन धर्म सामाजिक बीमारी है जो कुष्ठ रोग और एचआईवी से भी ज्यादा खतरनाक है।”वही आपको बता दें उदय निधि स्टालिन ने सनातन धर्म को लेकर एक बहुत ही विवादित बयान दिया था इसके बाद इनको सफाई भी देनी पड़ गई। इन्होंने सफाई देते हुए कहा कि,”उनके बयान का गलत मतलब निकल गया है वह किसी धर्म के दुश्मन नहीं है। आगे उन्होंने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि 9 सालों की अपनी असफलताओं से ध्यान भटकाने के लिए वह सनातन का उपयोग कर रही है।”

Read More-घोसी उपचुनाव के नतीजे से पहले राजभर ने दिया बड़ा बयान, कहा-‘सपाई सब पंडाल छोड़कर भाग जाएंगे’