ज्ञानवापी के व्यास तहखाने में पहली बार हुई पूजा -अर्चना, मुस्लिम पक्ष ने जताई नाराजगी

पूजा पाठ के दौरान का एक वीडियो भी सामने आया है। ज्ञानवापी परिसर के व्यास जी के तहखाने में पूजा पाठ के बाद मुस्लिम पक्ष की प्रतिक्रिया भी सामने आई है। कोर्ट के फैसले पर मुस्लिम पक्ष ने नाराजगी भी जाहिर की है।

84
Gyanvapi Case

Gyanvapi Case: वाराणसी कोर्ट ने हिंदुओं के पक्ष में फैसला सुनाते हुए ज्ञानवापी परिसर में स्थित व्यास जी के तहखाने में हिंदुओं का पूजा पाठ करने का अधिकार देने का आदेश दिया था। कोर्ट के फैसले के बाद ज्ञानवापी के व्यास जी के तहखाने में पहली बार पूजा की गई। पूजा पाठ के दौरान का एक वीडियो भी सामने आया है। ज्ञानवापी परिसर के व्यास जी के तहखाने में पूजा पाठ के बाद मुस्लिम पक्ष की प्रतिक्रिया भी सामने आई है। कोर्ट के फैसले पर मुस्लिम पक्ष ने नाराजगी भी जाहिर की है।

मुस्लिम पक्ष ने जताई नाराजगी

ज्ञानवापी में नमाज अदा करने के बाद बाहर निकले मुस्लिम पक्ष ने कोर्ट के फैसले पर नाराजगी जताई है। मुस्लिम पक्ष के वादी मुख्तार व्यास जी के तहखाने में पूजा का विरोध किया। उन्होंने कहा कि अन्य पड़े मुकदमों में इतनी जल्दी नहीं की गई लेकिन इस मामले में बिना किसी सबूत के आदेश दे दिया गया। उन्होंने कहा कि देर रात पूजा पाठ भी शुरू कर दिया गया यह कहां का नियम है। वही आपको बता दे ज्ञानवापी परिषद के व्यास जी के तहखाने में देर रात पूजा पाठ किया गया जिसका वीडियो भी सामने आया है जो सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रहा है।

मस्जिद के इंतजामियां कमेटी ने खटखटाया हाईकोर्ट का दरवाजा

ज्ञानवापी परिसर में व्यास जी के तहखाने में पूजा अर्चना होने के बाद मस्जिद की इंतजामियां कमेटी ने हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। मस्जिद की इंतजामिया कमेटी ने सुप्रीम कोर्ट से राहत नहीं मिलने के बाद हाई कोर्ट में याचिका दाखिल कर जिला जज वाराणसी फैसले को चुनौती दी है। वही आपको बता दें हिंदू पक्ष के वकील मदन मोहन यादव ने कहा कि अदालत में तहखाने में पूजा पाठ करने का अधिकार व्यास जी के नाती शैलेंद्र पाठक को दे दिया है।

Read More-प्राण प्रतिष्ठा के बाद अचानक रामलला के दर्शन करने पहुंच गए ‘हनुमानजी’, अद्भुत नजारा देख हैरान रह गए सुरक्षाकर्मी