हनुमान बेनीवाल के दावे से हैरान हुए लोग, बोले- ‘नई संसद में पानी भर गया है’

इसी बीच राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और सांसद हनुमान बेनीवाल ने सवाल किया कि ये नए संसद में सत्र क्यों नहीं होने वाला है.

494
Monsoon Session

Monsoon Session: गुरुवार से संसद का मानसून सत्र स्टार्ट हो रहा है. इसको लेकर केंद्र सरकार ने बुधवार को सर्वदलीय बैठक की. इसी बीच राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और सांसद हनुमान बेनीवाल ने सवाल किया कि ये नए संसद में सत्र क्यों नहीं होने वाला है.

बेनीवाल का दावा

बेनीवाल ने यह भी दावा किया है कि नई संसद में में इस कारण से मांग पत्र खत्म नहीं हो रहा है क्योंकि उसमें पानी भरा हुआ है उन्होंने बोला है कि ” नई संसद के उद्घाटन कार्यक्रम का बहिष्कार हमने इस कारण किया था क्योंकि महिला पहलाव प्रदर्शन कर रही थी. अब इच्छा था कि नई संसद में मीटिंग हो, लेकिन पानी भरने के कारण ऐसा नहीं हुआ. अरबों पैसे लगाकर मैसेज दे रहे हो कि हमने नई संसद बना ली, लेकिन एक बैठक नहीं करा पा रहे.”

सरकार का जवाब

बेनीवाल के दावे पर संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी ने पलटवार किया और बोला कि यह बात पूरी तरीके से गलत और निराधार मानी जाएगी. यह स्पीकर तय करते हैं. ऐसे में स्पीकर अपना पक्ष रखने वाले हैं.

दिल्ली के हाल बेहाल

असल में दिल्ली में हाल ही में काफी बारिश हुई और यमुना का जलस्तर बढ़ गया, जिसकी वजह से कई सड़कों को बंद किया गया. बहुत से इलाके जल में डूब गए हैं. सुप्रीम कोर्ट के पास वाले एरिया से लेकर आईटीओ तक में पानी भरा हुआ.

ज्ञात हो कि संसद के मानसून सत्र की शुरुआत 20 जुलाई को होनी है. यह सत्र 11 अगस्त तक चलने वाला है. इस दौरान संसद के दोनों सदनों की टोटल 17 बैठकें होने वाली हैं.

ग्रंथ आले भवन में हुई सर्वदलीय बैठक में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल, मंत्री प्रह्लाद जोशी, विधि मंत्री अर्जुन राम मेघवाल, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के अतिरिक्त कांग्रेस सांसद जयराम रमेश, अधीर रंजन चौधरी के साथ बहुत से नेता शामिल हुए.

Read More-Asia Cup 2023 में इस दिन भारत-पाक के बीच खेला जाएगा महा मुकाबला, सामने आई डेट!