Amarnath Yatra में जान जाने वालों की संख्या में हो रही बढ़ोतरी, चिंताजनक हुई यात्रा

इस साल की यात्रा के दौरान मरने वालों की संख्या बढ़ गई है और 24 हो गई है. 13 जुलाई सुबह मरने वाले पांच पीड़ितों में एक साधु भी थे, जिसमें अधिकांश तीर्थ यात्रियों की मौत दिल की धड़कन रुक जाने की वजह से हुई

669
Amarnath Yatra 2023

Amarnath Yatra 2023: जबसे इस साल की अमरनाथ यात्रा शुरू हुई है तब से बहुत से यात्रियों ने अपनी जान गवाई है. प्राप्त जानकारी के अनुसार बीते 36 घंटों के दौरान पांच और अमरनाथ यात्रियों ने दम तोड़ दिया, जिसके बाद इस साल की यात्रा के दौरान मरने वालों की संख्या बढ़ गई है और 24 हो गई है. 13 जुलाई सुबह मरने वाले पांच पीड़ितों में एक साधु भी थे, जिसमें अधिकांश तीर्थ यात्रियों की मौत दिल की धड़कन रुक जाने की वजह से हुई. प्राकृतिक कारणों के कारण होने वाली मौतों में यह यात्रा के दौरान 1 दिन में होने वाली सबसे ज्यादा मौतें हैं.

श्राइन बोर्ड के अधिकारियों ने दी जानकारी

श्राइन बोर्ड के अधिकारियों ने बताया कि यात्रा के पहलगाम मार्ग पर 4 लोगों की मौत हुई जबकि बालटाल मार्ग पर एक की मौत हुई. मरने वाले जिन चार तीर्थयात्रियों की पहचान की गई है वह यूपी, एमपी, हरियाणा और गुजरात के हैं, तो वहीं एक पीड़ित की पहचान होना मुश्किल हो गया. जिसके बाद में 5 मौतों के इस साल अब तक यात्रा के दौरान मरने वालों की संख्या 24 हुई है.

ये लोग थे शामिल

अधिकारियों के बताए अनुसार पीड़ितों में यात्रा ड्यूटी पर तैनात एक भारत तिब्बत सीमा पुलिस अधिकारी एक साधु और एक सेवादार शामिल थे. उन्होंने कहा कि ऊंचाई पर कम ऑक्सीजन की वजह से हृदय गति रुक गई, जिस कारण यह मौतें हुईं. प्राप्त जानकारी के अनुसार अभी तक 1,62,569 तीर्थयात्री प्राकृतिक बर्फ के लिंगम निर्माण की झलक प्राप्त करने के लिए गुफा मंदिर का दौरा कर चुके हैं. दक्षिण कश्मीर हिमालय में 3,888 मीटर ऊंचे गुफा मंदिर की 62 दिवसीय वार्षिक तीर्थयात्रा 1 जुलाई को अनंतनाग जिले के पहलगाम आगर जिले के बालटाल से चालू हुई. 31 अगस्त को यात्रा समाप्त होगी.

Read More-Jyoti Maurya Case: इमोशनल कार्ड खेल रहा मेरा पति, प्राइवेट तस्‍वीरो का सता रहा डर