‘प्रसारित न करें रामलला की प्राण प्रतिष्ठा से जुड़ी कोई गलत सूचना..’,केंद्र सरकार ने जारी की एडवाइजरी

राम मंदिर समझ से पहले वीआईपी टिकट, राम मंदिर प्रसाद प्रदान करने का दावा करने वाले कई फर्जी लिंग सोशल मीडिया पर नजर आ रहे हैं। जिसको लेकर अब केंद्र सरकार ने एडवाइजरी जारी कर दी है।

107
ram mandir ayodhya

Ram Mandir Inaugration: 22 जनवरी को होने जा रही रामलाल की प्राण प्रतिष्ठा को लेकर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। वही अब इसको लेकर केंद्र सरकार ने भी एक एडवाइजरी जारी की है जिसमें कहा गया है कि मीडिया आईलेट्स और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को राम मंदिर कार्यक्रम से संबंधित झूठी और हेर फेर की गई खबरों को प्रकाशित न करें। दरअसल राम मंदिर समझ से पहले वीआईपी टिकट, राम मंदिर प्रसाद प्रदान करने का दावा करने वाले कई फर्जी लिंग सोशल मीडिया पर नजर आ रहे हैं। जिसको लेकर अब केंद्र सरकार ने एडवाइजरी जारी कर दी है।

केंद्र सरकार ने जारी की एडवाइजरी

सूचना और प्रसारण मंत्रालय की ओर से जारी एडवाइजरी में कहा गया है कि,”यह देखा गया है, विशेष रूप से सोशल मीडिया पर कुछ झठी, भड़काऊ और फर्जी मैसेज फैलाए जा रहे हैं, जो सांप्रदायिक सद्भावना और सार्वजनिक व्यवस्था को बिगाड़ सकते है।” आपको बता दें 22 जनवरी को लेकर सरकार कोई भी चूक नहीं करना चाहती है। पूरी तरह से सुरक्षा व्यवस्था को दुरुस्त कर दिया गया है।

वायरल हो रहे थे कई फर्जी लिंक

आपको बता दें कुछ दिन पहले प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के लिए तत्काल वीवीआईपी टिकट का दावा करते हुए एक नकली क्यूआर कोड वाला एक व्हाट्सएप मैसेज वायरल हुआ था जिसके बाद मंदिर ट्रस्ट ने साफ किया था कि प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम में निमंत्रण के लिए ट्रस्ट ने खुद से चुनिंदा अतिथियों को निमंत्रण भेजा है। आपको बता दें 22 जनवरी को होने वाली राम मंदिर के साथ प्रतिष्ठा में देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री सीएम योगी आदित्यनाथ भी शामिल होंगे।

Read More-क्या असली नहीं है रामलाल की आंखों पर बिना पट्टी वाली मूर्ति? वायरल हो रही तस्वीर मंदिर के मुख्य पुजारी ने खड़े किए सवाल