मध्य प्रदेश के दतिया जिले में हुई खूनी झड़प, पांच लोगों की मौत, अन्य घायल

इस लड़ाई में गोलाबारी भी हुई जिसमें पांच लोगों की मौत हो गई है और 5 से ज्यादा लोग घायल हो गए हैं। सिविल लाइन थाना क्षेत्र केरल गांव में दांगी और पाल समाज से जुड़े दो परिवारों के बीच खेत में जानवर घुसने को लेकर विवाद हो गया था।

215
gun

Datia News: मध्य प्रदेश के दतिया जिले में दो गुटों के बीच खूनी झड़प हुई है जिसमें पांच लोगों की जान चली गई। वहीं अन्य लोग घायल हैं जिनका इलाज चल रहा है। गृहमंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा मध्य प्रदेश के दतिया जिले से ही विधायक हैं। इस लड़ाई में गोलाबारी भी हुई जिसमें पांच लोगों की मौत हो गई है और 5 से ज्यादा लोग घायल हो गए हैं। सिविल लाइन थाना क्षेत्र केरल गांव में दांगी और पाल समाज से जुड़े दो परिवारों के बीच खेत में जानवर घुसने को लेकर विवाद हो गया था।

जानवर भगाने को लेकर हुआ था विवाद

2 दिन पहले जानवर खेत में घुसने और भागने को लेकर दो परिवारों के बीच विवाद हुआ था जिसका मामला पंचायत में पहुंचा इस दौरान प्रकाश दांगी और प्रीतम पाल के बीच बहस हुई देखते ही देखते विवाद बढ़ गया बात गोलाबारी तक पहुंच गई। फिर दोनों के बीच खूनी झड़प हुई जिसमें पांच लोगों ने अपनी जान गवा दी। अब इस मामले को लेकर सियासत भी शुरू हो गई है। विपक्ष ने प्रदेश की कानून व्यवस्था पर भी सवाल खड़े कर दिए हैं।

विपक्ष ने खड़े किए कानून व्यवस्था पर सवाल

वहीं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने प्रदेश सरकार पर तंज कसते हैं कहा, “मध्य प्रदेश में कानून व्यवस्था दोस्तों हो चुकी है कानून व्यवस्था में संभालने वाले गृहमंत्री के गृह जिले दतिया में गोलाबारी में पांच लोगों की मौत दिल दहला देने वाली खबर सामने आई है। दतिया के रेडा गांव की ये घटना बताती है कि कमीशन और भ्रष्टाचार की व्यवस्था ने कानून और व्यवस्था में आम आदमी का भरोसा खत्म कर दिया है। मैं मुख्यमंत्री से मांग करता हूं कि आप जन आशीर्वाद के नाम पर जन अभिशाप को बढ़ावा ना दें।”

Read More-आजम खान को लेकर हो रही सियासत के बीच कूदें केशव प्रसाद मौर्य, अखिलेश यादव पर किया पलटवार