‘आदिपुरुष’ की बुराइयां करते दिखे ‘रामायण’ के लक्ष्मण और प्रेम सागर, वीडियो हो रहा वायरल

रामानंद सागर के बेटे ने सुनील लहरी से सवाल पूछते हुए कहा कि क्या उन्होंने प्रभास की यह फिल्म आदिपुरुष देखी है? जिसका जवाब रामायण के लक्ष्मण ने बेहद दिलचस्प अंदाज में दिया है।

700
Sunil Lahri and Prem Sagar

Aadipurush: सैफ अली खान और प्रभास की आदिपुरुष विवादों में बनी हुई है। रिलीज के बाद ही लोग तुरंत ही इसे बैन करने की मांग कर रहे हैं। इसी बीच रामानंद सागर के बेटे प्रेम सागर और रामायण के लक्ष्मण यानी सुनील लहरी का एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। जिसमें दोनों ही आदिपुरुष की बुराई करते हुए दिखाई दे रहे हैं। रामानंद सागर के बेटे ने सुनील लहरी से सवाल पूछते हुए कहा कि क्या उन्होंने प्रभास की यह फिल्म आदिपुरुष देखी है? जिसका जवाब रामायण के लक्ष्मण ने बेहद दिलचस्प अंदाज में दिया है।

‘आदिपुरुष’ की बुराई करते दिखे सुनील लहरी

सोशल मीडिया पर जो वीडियो वायरल हो रहा है। उसमें देखा जा सकता है कि रामानंद सागर के बेटे प्रेम सागर सुनील लहरी से सवाल पूछते हुए नजर आ रहे हैं कि,’अच्छा यार तू कह रहा था कि तू आज पुरुष देखने वाला है तू गया और देखी?”इस पर सुनील लहरी ने दिलचस्प जवाब देते हुए लंबी सांस ली और कहा,’ओ मत पूछो’ जिसके बाद फिर से हंसते हुए प्रेम ने कहा,’अरे मैं तुझसे नहीं पूछूंगा तो किस से पूछूंगा।’ सुनील लहरी ने जवाब देते हुए कहा, ‘मैंने देखी है और मैं बहुत निराश हूं।’ जिसके बाद प्रेम सागर ने कहा, ‘ओह माय गॉड।’ सुनील लहरी ने कहा, ‘इन्होंने तो वैसे ही चेंज कर दिया लुक वाइज, करैक्टर वाइज, लोकेशन वाइज यहां तक कि रावण की लंका को भी चेंज कर दिया। लंका सोने की बताई जाती है उसे काली दिखाई गई। ऐसा लगता है कि हनुमानजी ने पहले ही लंका जला दी थी।’

सुनील लहरी को नहीं पसंद आई और आदिपुरुष

सुनील लहरी ने कहा कि अगर वह उसे फैंटास्टिक कहते हैं या फिर कहते हैं कि हमने रामायण से इंस्पिरेशन ली है तो भी काम चल जाता लेकिन इन्होंने तो डिस्क्लेमर में भी कहा है कि बेस्ड ऑन रामायण। मैं तो कहता हूं कि किसी भी कल्चर के ग्रंथों के फैक्ट को चेंज करने का आपको कोई हक नहीं है। आपका बता दे सुनील लहरी कोई यह फिल्म बिल्कुल भी पसंद नहीं आई है और उन्होंने फिल्म को लेकर काफी कुछ कहा है।

Read More-रामचरण की पत्नी ने दिया बेटी को जन्म, दादा बनने पर खुशी से फूले नहीं समा रहे Chiranjeevi