अजित पवार ने फूंका चाचा के खिलाफ बगावत का बिगुल, क्या इस बार भतीजे को मना पाएंगे शरद पवार?

2 जुलाई दिन रविवार को अजित पवार ने बीजेपी की अगुवाई वाले गठबंधन यानी एनडीए का दामन थाम कर अपने चाचा शरद पवार के खिलाफ बगावत का बिगुल फूंक दिया है।

672
Ajit Pawar and Sharad Pawar

Maharashtra NCP Crisis: महाराष्ट्र की सियासत में एक बार फिर से भूचाल आ गया है। एनसीबी की बगावत से महाराष्ट्र ही नहीं बल्कि देशभर की राजनीति पर असर पड़ रहा है। भतीजे अजित पवार ने अपने चाचा के खिलाफ बगावत का बिगुल फूंक दिया है। हर कोई सोच रहा है कि इस वक्त अजित पवार के मन में क्या चल रहा है। 2 जुलाई दिन रविवार को अजित पवार ने बीजेपी की अगुवाई वाले गठबंधन यानी एनडीए का दामन थाम कर अपने चाचा शरद पवार के खिलाफ बगावत का बिगुल फूंक दिया है।

इस बार हो पाएगी अजित पवार की घर वापसी?

अब हर किसी के मन में यही सवाल उठता है कि क्या एनसीपी में अंत तक सब कुछ ठीक हो जाएगा। एनसीपी में लंबे समय से मतभेद की खबरें सामने आ रही थी लेकिन फिर भी शरद पवार और अजीत पवार इनको अफवाहों का नाम देकर सब कुछ ठीक होने की बात कह रहे थे। एनसीपी चीफ शरद पवार ने पिछले महीने जून में बड़ा बदलाव करते हुए पार्टी की कमान अपनी बेटी सुप्रिया सुले और सुमित पटेल के हाथों में सौंप दी थी। इस फैसले के बाद अजित पवार को बहुत बड़ा झटका लगा था।

बीजेपी के साथ पहले से थे संपर्क में!

खबरें तो यह भी थी कि अजित पवार पहले से ही बीजेपी के संपर्क में थे उन्होंने गृहमंत्री अमित शाह से भी मुलाकात की थी। पीएम मोदी ने भी अपने भाषण में एनसीपी पर कई सारे आरोप लगाए थे। इमेज ऑफ मनमुटाव और ईडी के डर से उनका एनसीपी में वापस जाना नामुमकिन लग रहा है।

Read More-महाराष्ट्र में हुआ दर्दनाक हादसा, 25 लोगों की मौत, PM Modi ने जताया दुख