बस्ती की बिटिया को पाकिस्तान में सौंपी गई बड़ी जिम्मेदारी, गीतिका श्रीवास्तव ने संभाली भारतीय उच्चायोग की कमान

आजादी के बाद पहली बार भारत ने पाकिस्तान में अपने उच्चायोग की कमान किसी महिला के हाथ में सौंपी है। उन्हें डॉ एम सुरेश कुमार की जगह पर रखा गया है।

144
news

Basti News: उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले की गीतिका श्रीवास्तव ने सभी का सिर गर्व से ऊंचा कर दिया है। 2005 बैच की भारतीय विदेश सेवा यानी आईएएस अफसर अधिकारी गीतिका श्रीवास्तव को इस्लामाबाद में भारतीय उच्च आयोग की अफेयर्स यानी सीडीए की कमान सौंपी गई। आजादी के बाद पहली बार भारत ने पाकिस्तान में अपने उच्चायोग की कमान किसी महिला के हाथ में सौंपी है। उन्हें डॉ एम सुरेश कुमार की जगह पर रखा गया है।

1947 के बाद पुरुषों के हाथ में रही है भारतीय उच्चायोग की कमान

1947 के बाद पाकिस्तान में भारतीय उच्च आयोग की कमान पुरुषों के पास ही रही है। पाकिस्तान में भारतीय मिशन के 22 प्रमुख हुए और सभी पुरुष ही थे। पहली बार ऐसा हुआ है जब पाकिस्तान में भारतीय उच्चायोग की कमान किसी महिला को सौंप गई हो। पाकिस्तान में भारत के आखिरी उच्चायोग अजय बिसारिया थे लेकिन 2019 में भारत में जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटा दिया तो पाकिस्तान ने वापस जाने के लिए उन्हें कहा था।

भारतीय दूतावास में काम कर चुकी है गतिका

आपको बता दें गीतिका श्रीवास्तव 2007 से 2009 के बीच बीजिंग स्थित भारतीय दूतावास में जूनियर राजनयिक के तौर पर काम कर चुकी हैं। विदेशी भाषा सीखने की ट्रेनिंग में गीतिका ने चीनी भाषा मंदारिन सीखी थी। अब उम्मीद की जा रही है कि गीतिका इस्लामाबाद में जल्द ही जिम्मेदारी संभाल लेगी। पाकिस्तान ने भी नई दिल्ली में अपना नया सीडीए नियुक्त किया है। बेटी को पाकिस्तान में भारतीय उच्चायोग की जिम्मेदारी मिलने पर पिता जीपी श्रीवास्तव और मां गीता श्रीवास्तव काफी खुश है। उन्होंने कहा कि, बेटी को देश की सेवा करते हुए देखकर मैं काफी खुश हूं। उन्हें करीब 5 दिन पूर्व पाकिस्तान में भारतीय उच्चायोग की प्रभारी बनने की जानकारी मिली है।

Read More-दिव्या मित्तल बनी बस्ती की नई डीएम, यूपी के कई जिलों के बदले गए IAS अफसर, जाने किसको मिली कहां की कमान