‘इंडिया वर्सेस भारत’ की लड़ाई में चक्कर में फंसी सपा, ना कर पा रही विरोध नाहीं समर्थन, जाने क्या है वजह

समाजवादी पार्टी नाही इस लड़ाई में समर्थन कर सकते हैं और ना ही विरोध कर सकते हैं। इन दिनों पूरे देश में इंडिया का नाम बदलने को लेकर काफी चर्चाएं चल रही है हर कोई अपनी- अपनी प्रक्रियाएं दे रहा है।

229
akhilesh yadav

India Name Change Row: देश का नाम बदलने को लेकर इस वक्त काफी सियासत बनी हुई है। केंद्र सरकार का विरोध विपक्ष जमकर कर रहा है। भाजपा जहां इंडिया को गुलामी का प्रतीक बता रही है तो वहीं विपक्षी दलों का कहना है कि मोदी सरकार विपक्ष के इंडिया गठबंधन से डर कर यह सब कर रहा है। इंडिया या भारत की लड़ाई में समाजवादी पार्टी बुरी तरह फस गई हैं समाजवादी पार्टी नाही इस लड़ाई में समर्थन कर सकते हैं और ना ही विरोध कर सकते हैं। इन दिनों पूरे देश में इंडिया का नाम बदलने को लेकर काफी चर्चाएं चल रही है हर कोई अपनी- अपनी प्रक्रियाएं दे रहा है।

इस विवाद में बुरी तरह फंसी सपा

दरअसल इस पूरे मामले में सबसे ज्यादा अगर कोई बुरी तरह फस है तो सपा क्योंकि देश का नाम भारत करने की मांग सबसे पहले सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव ने ही की थी। 2004 में जब मुलायम सिंह यादव यूपी के मुख्यमंत्री बने थे तो उन्होंने यह प्रस्ताव यूपी विधानसभा में रखा था के संविधान में ‘इंडिया देट इज भारत’ जो लिखा है उसे संशोधित करके ‘भारत देट इज इंडिया’ रखा जाए। हालांकि विधानसभा से यह प्रस्ताव पास भी कर दिया गया था लेकिन देश के प्रधानमंत्री न होने के कारण वह देश का नाम नहीं बदल पाए थे। अब इसीलिए कहा जा रहा है कि अखिलेश यादव यानी समाजवादी पार्टी किसी भी तरह से इस बात का विरोध नहीं कर सकती है वही वह ‘इंडिया गठबंधन’ का हिस्सा है और भाजपा ऐसा करने की मांग कर रही है ऐसे में बीजेपी का विरोध भी करना सपा की मजबूरी बन गई है।

सपा प्रवक्ता ने दिया था यह बयान

वही आपको बता दे इंडिया वर्सेस भारत को लेकर हो रहे विवाद पर सपा प्रवक्ता सुनील साजन ने सफाई देते हुए कहा कि, “हमारे लिए इंडिया भारत और हिंदुस्तान तीनों एक जैसे हैं। ये नाम सुनते ही हमारे मन में गर्व का भाव आता है। जैसे ही हमने इंडिया गठबंधन बनाया भाजपा को दिन में सारे नजर आने लगे उन्हें पता है कि अगली सरकार इंडिया गठबंधन की बनने जा रही है बीजेपी ने देश के गरीबों, किसानों और बेरोजगारों के लिए कोई काम नहीं किया और अब कागज पर भारत नाम करके वह 2024 में जीत नहीं पाएंगे।”

Read More-India Vs Bharat: ममता बनर्जी ने लगाया केंद्र सरकार पर देश का नाम बदलने का आरोप, कहा -‘अचानक ऐसा क्या हुआ…’