BJP सांसद रामशंकर कठेरिया को हुई 2 साल की सजा, सांसद सदस्यता पर भी मंडराया खतरा

रामशंकर कठेरिया के सांसद सदस्यता भी खतरे में आ गई है। दरअसल आपको बता दें बीजेपी सांसद पर 16 नवंबर 2011 को साकेत मॉल में टोरेंट कंपनी के ऑफिस पर हंगामा कर तोड़फोड़ का आरोप लगाया गया है।

761
Ram Shankar Katheria

UP News: उत्तर प्रदेश के इटावा के बीजेपी सांसद रामशंकर कठेरिया को 2 साल की सजा सुनाई गई है। आगरा कोर्ट ने एक मामले में दोषी करार देते हुए सजा सुनाई और 50 हजार का जुर्माना भी लगाया है। अब रामशंकर कठेरिया के सांसद सदस्यता भी खतरे में आ गई है। दरअसल आपको बता दें बीजेपी सांसद पर 16 नवंबर 2011 को साकेत मॉल में टोरेंट कंपनी के ऑफिस पर हंगामा कर तोड़फोड़ का आरोप लगाया गया है।

12 साल पुराने मामले पर सुनाई गई सजा

दरअसल टोरेंट पावर लिमिटेड आगरा के साकेत मॉल स्थित कार्यालय में मैनेजर भावेश रसिक लाल बिजली चोरी से संबंधित मामले की सुनवाई कर रहे थे। तभी स्थानीय सांसद रामशंकर कठेरिया के साथ आए 10 से 15 समर्थकों ने कार्यालय में घुसकर उनके साथ मारपीट शुरू कर दी। इस दौरान भावेश रसिक को काफी चोटें भी आई थी। जिसके बाद टोरेंट पावर के सुरक्षा निरीक्षक ने हरिपर्वत थाने में शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने सांसद रामशंकर कटारिया और समर्थकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया था।

फैसला आने पर क्या बोले रामशंकर कठेरिया?

वही आपको बता दे रामशंकर कठेरिया राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष भी रह चुके हैं। इतना ही नहीं वह आगरा से भी सांसद बन चुके हैं। सजा सुनाए जाने पर बीजेपी सांसद रामशंकर कठेरिया ने कहा कि, “मैं माननीय कोर्ट के फैसले का सम्मान करता हूं स्वीकार करता हूं अपने अधिकार का प्रयोग करते हुए आगे अपील करूंगा।”

Read More-बगावत के बाद पहली बार चाचा Sharad Pawar से मिलने पहुंचे Ajit Pawar, आखिर क्यों खुशी से झूम उठी BJP