4 दिनों से जिंदा दफन था 62 साल का आदमी, कब्र से आ रही थी बचाने की आवाजें, देखें वीडियो

जब पुलिस जांच के लिए वहां पर पहुंचे तो कब्र से बुजुर्ग की दबी दबी चीखें सुनाई दे रही थी जिसे सुनकर सभी लोग हैरान रह गए। बुजुर्ग को कब्र से बाहर निकल गया साथी बुजुर्ग को जिंदा दफन करने वाले आरोपी को भी गिरफ्तार कर लिया गया है।

132
Moldova

Moldova: कोई चार दिन तक कब्र के अंदर जिंदा कैसे दफन रह सकता है यह बहुत ही हैरान कर देने वाली बात है। एक ऐसी ही घटना पूर्वी यूरोपियन गणराज्य माॅल्डोवा से सामने आई है। एक 62 साल का शख्स चार दिनों तक कब्र में जिंदा दफन रहा। जब पुलिस जांच के लिए वहां पर पहुंचे तो कब्र से बुजुर्ग की दबी दबी चीखें सुनाई दे रही थी जिसे सुनकर सभी लोग हैरान रह गए। बुजुर्ग को कब्र से बाहर निकल गया साथी बुजुर्ग को जिंदा दफन करने वाले आरोपी को भी गिरफ्तार कर लिया गया है।

कब्र से आ रही थी दबी- दबी आवाजे

एक रिपोर्ट्स के अनुसार 74 साल की एक महिला की मौत की जांच के दौरान इस तरह की घटना सामने आई है। उत्तर पश्चिम मॉल्डोवा के उस्तिया में एक बुजुर्ग दंपति अपने मकान में रहते थे। उनके साथ एक 18 साल का रिश्तेदार भी रहता था।पुलिस ने बताया कि सोमवार, 13 मई को महिला की हत्या की सूचना मिली। सूचना पाकर पुलिस पहुंची तो महिला का शव घर की फर्श पर पड़ा मिला। उसके शरीर पर घाव के निशान थे। ऐसा लग रहा था कि महिला ने खुद को बचाने की पूरी कोशिश की थी। वही आप पड़ोसियों ने बताया कि महिला के साथ उसका पति भी रहता था वह कई दिनों से लापता है। इस पर अधिकारियों ने तलाशी शुरू कर दी। उन्होंने घर के पास जमीन के नीचे कराहने और मदद के चिखने की आवाजें सुनी। खुदाई के बाद 62 साल के एक शख्स को एक अस्थाई कब्र से बाहर निकाला गया। उसकी गर्दन और चेहरे पर घाव के निशान थे।

शख्स को दफनाने के बाद महिला की कर दी हत्या

कब्र से बाहर निकल गए बुजुर्ग ने बताया कि वह और आरोपी रिश्तेदार शनिवार को एक साथ शराब पी रहे थे। तभी उनमें वहां सोने लगी कथित तौर पर युवक ने उन पर चाकू से हमला किया और फिर उसे अस्थायी तहखाने में बंद कर दिया। उसे जिंदा दफना दिया। अधिकारियों का मानना है कि आरोपी ने अगले दिन या रविवार रात या सोमवार तड़के सुबह बुजुर्ग महिला की हत्या कर दी। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

Read More-‘अब हम अयोध्या से मथुरा की ओर जाएंगे…’महाराष्ट्र में गरजे यूपी के सीएम योगी