मंत्री के निजी सचिव का ‘करोड़पति नौकर’, घर में नोटों के पहाड़ देख ED अधिकारियों के भी उड़े होश

झारखंड के ग्रामीण विकास मंत्री और राज्य के वरिष्ठ कांग्रेस नेता आलमगीर आलम के निजी सचिव संजीव लाल के घरेलू सहायक के यहां रेड मारी गई।

45
ED Raid In Jharkhand

ED Raid In Jharkhand: लोकसभा चुनाव के बीच ईडी ने झारखंड के रांची में कई इलाकों में छापेमारी की है। सूत्रों के मुताबिक ईडी की यह कार्रवाई निलंबित चीफ इंजीनियर वीरेंद्र राम और उनके करीबियों के ठिकाने पर की जा रही है। चीफ इंजीनियर वीरेंद्र राम टेंडर कमीशन घोटाले में निलंबित है। इस दौरान झारखंड के ग्रामीण विकास मंत्री और राज्य के वरिष्ठ कांग्रेस नेता आलमगीर आलम के निजी सचिव संजीव लाल के घरेलू सहायक के यहां रेड मारी गई। संजीव लाल के नौकर के यहां से भारी मात्रा में नकदी बरामद की गई है

सड़क निर्माण के लिए कमीशन लेता था वीरेंद्र राम

झारखंड के ग्रामीण इलाकों में सड़क निर्माण व अन्य टेंडर जारी करने के बदले में 3% से लेकर एक परसेंट तक कमीशन लेने की बात खुद वीरेंद्र राम ने कबूली थी। इसके बाद ईडी ने वीरेंद्र राम की करोड़ों रुपए की चला चल संपत्ति अटैच की थी। ईडी को शक है कि पिछले साल झारखंड के ग्रामीण इलाकों की सड़क के निर्माण के लिए 10000 करोड रुपए के भी टेंडर अलॉट किए गए जिनमें मोटा कमीशन लिया गया था।

वीरेंद्र राम को किया जा चुका है गिरफ्तार

प्रवर्तन निदेशालय में टेंडर में कमीशन घोटाले को लेकर 22 फरवरी 2023 को वीरेंद्र राम को गिरफ्तार किया था इससे एक दिन पहले 21 फरवरी को ईडी ने वीरेंद्र के 24 ठिकानों पर एक साथ छापेमारी की थी। छापेमारी के दौरान ईडी को लगभग डेढ़ करोड़ के जेवरात समेत देश के कई शहरों में करोड़ों के निवेश से जुड़े दस्तावेज मिले थे। ईडी के अधिकारियों ने बताया कि सुबह 9:30 बजे तक 20 करोड रुपए से ज्यादा की गिनती हो चुकी थी। नोटों की गिनती अभी भी जारी है।

Read More-लोकसभा चुनाव के बीच अयोध्या पहुंचे PM मोदी रामलला के किए दर्शन, निकाला रोड शो