दो सगी बहनों के साथ दरिंदगी, दरिंदों ने आंखें फोड़कर तालाब में फेंके शव

1055

फतेहपुर। योगी सरकार के लाख प्रयासों के बावजूद उत्तर प्रदेश में बेटियां लगातार दरिंदों के निशाने पर हैं। दीपावली पर्व पर जहां लोग मां लक्ष्मी की पूजा—अर्चना कर सुख—समृद्धि की कामना कर रहे थे वहीं कुछ ऐसे दरिंदे भी थे बेटियों की हत्या करने से भी बाज नहीं आए। फतेहपुर जनपद के असोथर थानाक्षेत्र के एक गांव में लापता दो सगी बहनों के शव तालाब में उतराते मिलने के बाद क्षेत्र में दहशत का माहौल बन गया है। दोनों बहनों की आंख और सिर पर चोट के निशान देखकर दुष्कर्म के बाद हत्या की आशंका जताई जा रही है। घटना से पूरे क्षेत्र में आक्रोश का माहौल बना हुआ है। इसी के चलते ग्रामीणों ने पुलिस को शव उठाने से रोक दिया। 2 घंटे के कड़ी मशक्कत के बाद पुलिस ग्रामीणों को किसी तरह से शांत कराने के बाद शव कब्जे में ले लिया है। मामले की जानकारी होने पर एसपी प्रशांत वर्मा और एडिशनल एसपी राजेश कुमार सहित कई अधिकारी मौके पर पहुंच गए।

इसे भी पढ़ें: इस लड़की ने अपने पैरों की फोटो दिखा कर महीने में 8 लाख कमाने का किया दावा, देखें तस्वीर

एसपी सहित सभी अधिकारियों ने घटनास्थल का निरीक्षण किया। जानकारी के अनुसार असोथर थाना क्षेत्र निवासी दो बहनें कल दोपहर 12 बजे के करीब घर से निकली थी। शाम तक घर वापस नहीं लौटने पर परिजनों ने खोजबीन शुरू की। देर शाम गांव के किनारे तालाब में दोनों बहनों के शव उतराते देखे गए। ग्रामीणों की मदद से दोनों शवों को बाहर निकाला गया। दोनों बहनों की आंखों और सिर पर चोट के निशान है, जिसके चलते दुष्कर्म के बाद हत्या की आशंका जताई जा रही है। वहीं एसपी प्रशांत वर्मा का कहना है कि पोस्टमार्टम से पहले कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी, रिपोर्ट आने के बाद स्थिति साफ हो जाएगी।

दो सगी बहनों की लाश मिलने से पूरे गांव में भय और आक्रोश का माहौल बना हुआ है। नाराज ग्रामीणों ने पुलिस को शव उठाने से मना किया, जिस पर काफी समझाने के बाद पुलिस ने जबरन शव को अपने कब्जे में ले लिया है। वहीं तनाव को देखते हुए गांव में अधिकारियों के आने—जाने का सिलसिला शुरू हो गया है।

इसे भी पढ़ें: बिटिया की शादी के लिए अभी खरीद लें सोना, दिसम्बर मे गोल्ड की कीमतें क्यों तोड़ेगी सारे रिकॉर्ड अभी जान लें?