अवैध तरीके से रह रहे 183 पाकिस्तानियों का वीजा हुआ रद्द, सूची में आईएसआई चीफ की बहन का नाम भी शामिल

103
lpg

फ्रांस में पिछले दिनों हुई आतंकी घटनाओं के बाद अब सख्त कदम उठाने शुरू कर दिए हैं, इसी क्रम में अब देश अवैध रूप से रह रहे हैं लोगों की पहचान कर उन्हें देश से बाहर करने का काम शुरू हो चुका है। फ्रांस ने देश में अवैध रूप से रह रहे 183 पाकिस्तानियों का वीजा रद्द कर दिया है। इन लोगों में पाक खुफियां एजेंसी आईएसआई प्रमुख शुजा पाशा की बहन का भी नाम शामिल हैं। फ्रांस ने 183 लोगों में से 118 लोगों को पाकिस्तान वापस भेज दिया है। इसकी जानकरी खुद पाकिस्तान के वाणिज्य दूतावास ने ट्वीट करके दी है। वहीं आईएसआई चीफ की बहन को फ्रांस में अस्थायी तौर पर रहने की अपील पाकिस्तान की तरफ से की गई है।

इसे भी पढ़ें: घाटी में ढेर हुआ आतंक का ‘डॉक्टर’, तीन बीजेपी नेताओं को उतारा था मौत के घाट

पाकिस्तान दूतावास का यह भी कहना है कि, जिन लोगों को फ्रांस ने जबरन देश बाहर निकालकर पाकिस्तान भेजा है उन सभी के पास वैध कागजात मौजूद थे। वहीं पाशा की बहन को लेकर कहना है कि, फ्रांस में वो अपनी सास की सेवा कर रही है इसलिए उसे वहीं रहने दिया जाए। गौरतलब है कि, फ्रांस में बीते दिनों एक शिक्षक की गर्दन काटकर उसकी हत्या कर दी गई थी, जिसके बाद हालात सही नहीं हुए हैं। देश में आतंक की दूसरी घटना नीस शहर में हुई जिसमे के हमलवार ने चर्च में तीन लोगों की हत्या कर दी और एक महिला का तो सिर ही उसके धड़ से अलग कर दिया था।

देश में हुई इन आतंकी घटनाओं के बाद राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने इस्लामिक आतंकवाद को खत्म करने का एलान कर दिया था। इसके बाद से ही दुनिया भर के मुस्लिम देशों में राष्ट्रपति इमैनुएल के खिलाफ प्रदर्शन शुरू हो गए हैं। मैक्रों के बयान को लेकर पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने उन पर निशाना साधते हुए कहा था कि, राष्ट्रपति मुसलमानों को भड़काने का काम कर रहे हैं। इसके बाद ही फ्रांस ने 183 पाकिस्तानियों विजिटर्स का वीजा रद्द किया है।

इसे भी पढ़ें: यूपी के इस गांव में रहस्यमयी बुखार से हुई 15 लोगों की मौत, स्वास्थ्य विभाग में मचा हड़कंप