पूजा पाठ करते समय रखें इन बातों का ध्यान, कभी नहीं होगी आर्थिक परेशानी

141

र बनवाने में आप जितना मर्जी पैसा खर्च कर दें। आपके पास घर में सभी सुविधाएं भले ही मौजूद हों, लेकिन अगर आपके घर में एक भी वास्तु दोष (Vastu Dosh ) है तो आपके जीवन में तनाव हमेशा बना रहेगा। लाख कोशिशों के बाद भी आपको कोई न कोई कमी घर में महसूस होती रहेगी। आप अगर घर में पूजा पाठ करते हैं और मंदिर घर में गलत दिशा में बना रखा है तो आपको इसकी अनदेखी परेशानी में डाल सकती है। इस बात का हमेशा ध्यान रखें कि, घर में मंदिर उत्तर पूर्व दिशा (ईशान कोण) में ही स्थापित हो। वास्तु शास्त्र (Vaastu Shaastra) के अनुसार, घर में पूजा पाठ करते समय इन बातों का विशेष ध्यान रखें।

  • पूजा घर में कभी भी कोई भी खंडित मूर्ति या फिर जुड़ी हुई मूर्ति नहीं रखनी चाहिए। वास्तु शास्त्र में इसे अशुभ माना गया है।
  • वास्तु शास्त्र में शंख का काफी महत्व बताया गया है। कहते हैं कि, जिस घर में शंख होता है, उसे घर में मां लक्ष्मी का वास होता है। घर में नकारात्मक ऊर्जा को शंखनाद से दूर किया जा सकता है। वहीं शंख घर में मौजूद वास्तु दोष को भी खत्म करता है। इस बात का हमेशा ध्यान रखें कि, कभी शंख को जमीन पर न रखें।
  • शिवलिंग को हमेशा रेशमी कपड़े पर बिछाकर उसके ऊपर रखना चाहिए। ऐसा न करने पर वास्तु दोष होता है, जिससे घर वालों को आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ सकता है। घर में कभी भी अकेला शिवलिंग नहीं बल्कि शिव परिवार की मूर्ति भी रखनी चाहिए।
  • घर के मंदिर में कभी भी पूर्वजों की तस्वीर नहीं रखनी चाहिए। मंदिर में पूजा करते समय हमेशा अपना मुख पूर्व दिशा की तरफ ही रखें। इसके आलावा आप पश्चिम दिशा की तरफ भी मुख करके पूजा कर सकते हैं।
  • मंदिर की दीवार हल्के गुलाबी रंग की रखना शुभ है। किसी तरह की पूजा, हवन कराने के बाद बची हुई पूजा समाग्री को मंदिर में न रखें। उसे जल में प्रवाहित कर दें।

इसे भी पढ़ें: आपकी तरक्की की राह में मुश्किलें पैदा करता है वास्तु दोष, न करें कभी ये गलतियां