स्टडी करते समय रखें इन बातों का ध्यान, परीक्षा में विद्यार्थी करेंगे टॉप

49

च्चों की परीक्षाएं शुरू होने वाली हैं। ऐसे में बच्चों से ज्यादा तनाव में उनके माता पिता रहते हैं। समय के साथ प्रतियोगिता भी बढ़ती जा रही है। ऐसे में माता-पिता का सपना होता है कि, उनका बच्चा सबसे बेहतर प्रदर्शन करें। देश में कुछ दिनों बाद ही क्लास 10वीं और 12वीं की परीक्षा शुरू होनी है। परीक्षा का समय जैसे-जैसे नजदीक आ रहा है। वैसे-वैसे बच्चों तनाव भी बढ़ता जा रहा है। ऐसे में बच्चों की परेशानी ये होती कि, वो पढ़ाई तो काफी करते है लेकिन वो भूल जाते हैं।
बच्चे को इस परेशानियों को दूर भी किया जा सकता है। अगर कुछ बातों का ध्यान रखा जाए।

  • बच्चों को पढ़ाई सुबह-सुबह ही करनी चाहिए। इस वक़्त दिमाग बेहद शांत रहता है और आसपास का वातावरण भी शांत रहता रहता है। ब्रह्म मुहूर्त में अगर पढ़ाई की जाती है। भूलने की समस्या से बच्चों को छुटकारा मिलता है। पढ़ाई हमेशा ब्रेक लेकर करनी चाहिए, लगातार नहीं।
  • जब आप पढ़ाई करने बैठें तो एक बात का विशेष ध्यान रखें कि, मेज पर एक से अधिक किताबें न हो। कई किताबों को सामने देखकर अक्सर विद्यार्थी ऊब जाता है, जिसकी वजह से उसका मन पढ़ाई में नहीं लगता है।
  • अगर बच्चे का मन पढ़ाई करते समय एकाग्रता नहीं रहती है तो बच्चा पढ़ाई करने से पूर्व स्टडी टेबल वाले रूम में दो से तीन मिनट तक घंटी बजानी चाहिए। इससे कमरे का वातावरण सकारात्मक हो जाता है और बच्चे का मन पढ़ाई में लगता है।
  • जब भी पढ़ाई करने बैठें तो एक बात का विशेष ध्यान रखें कि, आपका मुख पूर्व दिशा की तरफ ही हो। मेज को दीवार से सटाकर कभी न रखें।
  • पढ़ाई करते समय कमरे की लाइट समान्य रखें और बच्चे का फोकस सिर्फ किताब पर हो। तेज लाइट में पढ़ाई प्रभावित होती है।

इसे भी पढ़ें: Vastu Tips: घर में भूल कर भी ना रखें ये चीजें, फैलने लगती है नकारात्मक ऊर्जा