Friday, October 22, 2021

लखीमपुर खीरी हिंसा : वरुण गांधी ने सरकार पर साधा निशाना, कहा – प्रदर्शनकारियों को हत्या से नहीं कराया जा सकता चुप

- Advertisement -
- Advertisement -

लखनऊ। बीजेपी सांसद वरुण गांधी लगातार किसानों के समर्थन में ट्वीट कर रहे हैं। लखीमपुर खीरी हिंसा को लेकर भी वरुण गांधी ने सीएम योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखा था। बीजेपी सांसद ने मांग की थी कि दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई हो, जिससे पीड़ित परिवारों को इंसाफ मिले। इस क्रम में वरुण गांधी ने एक वीडियो ट्वीट कर दोषियों को सजा दिलाने की मांग की है। 3 अक्टूबर को हुई हिंसा को लेकर वरुण गांधी ने एक वीडियो शेयर किया है, जिसके साथ उन्होंने लिखा है कि ‘यह वीडियो बिल्कुल साफ है। प्रदर्शनकारियों को हत्या से चुप नहीं कराया जा सकता। मासूम किसानों का जो खून बहा है उसकी जवाबदेही तय होनी ही चाहिए और न्याय मिलना ही चाहिए। किसानों को के सामने ऐसा संदेश नहीं जाना चाहिए कि हम क्रूर हैं।’

आरोपियों के गिरफ्तारी की मांग
वरुण गांधी ने 5 अक्टूबर को घटना का वीडियो ट्वीट कर कहा था कि ‘लखीमपुर खीरी में किसानों को गाड़ियों से जानबूझकर कुचलने का यह वीडियो किसी की भी आत्मा को झखझोर देगा। पुलिस इस वीडियो का संज्ञान लेकर इन गाड़ियों के मालिकों, इनमें बैठे लोगों, और इस प्रकरण में संलिप्त अन्य व्यक्तियों को चिन्हित कर तत्काल गिरफ्तार करे।’

सीएम योगी आदित्‍यनाथ (Yogi Adityanath) को वरुण गांधी ने 4 अक्टूबर को पत्र लिखकर मांग की है कि हिंसा मामले की जांच सीबीआई से कराई जाए। उन्होंने कहा है कि ‘विरोध प्रदर्शन कर रहे किसानों को निर्दयतापूर्वक कुचलने की जो हृदय विदारक घटना लखीमपुर खीरी में हुई है। उससे देश के नागरिकों में एक पीड़ा और गुस्सा है। घटना से एक दिन पहले ही देश ने अंहिसा के पुजारी महात्मा गांधी जी की जयंती मनाई थी लेकिन अगले ही दिन लखीमपुर खीरी में हमारे अन्नदाताओं की जिस घटनाक्रम में हत्या की गई, वो किसी भी सभ्य समाज में अक्षम्य हैं।’

वरुण गांधी ने कहा कि ‘आन्दोलन कर रहे किसान भाई हमारे अपने नागरिक हैं। अगर कुछ मुद्दों को लेकर किसान भाई पीड़ित हैं और अपने लोकतांत्रिक अधिकारों के तहत विरोध प्रर्दशन कर रहें हैं तो हमें उनके साथ बड़े ही संयम एवं धैर्य के साथ बर्ताव करना चाहिए।’

इसे भी पढ़ें : लखीमपुर खीरी हिंसा : अजय मिश्रा ने अमित शाह से की मुलाकात, मामले को लेकर दी सफाई, जानें क्या कहा…

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -