UP: आपस में भिड़े सपा और बीजेपी कार्यकर्ता, जमकर हुई मारपीट

0
126

लखनऊ। बीजेपी और सपा के कार्यकर्त्ता जिला पंचायत अध्यक्ष पद के चुनाव के नामांकन के दौरान गोरखपुर में भिड़ गए। दोनों ही तरफ से एक दूसरे पर जमकर लात घूंसे चले। इस दौरान सपा के एक कार्यकर्त्ता को बीजेपी के कार्यकार्ताओं ने जमकर पीटा। इस विवाद की वजह से सपा प्रत्याशी नामांकन ही नहीं कर पाया, जिसके बाद बीजेपी उम्मीदवार की जीत तय है। सपा और बीजेपी कार्यकर्ताओं के बीच भिड़त गोरखपुर के कलेक्टर कार्यालय के पास हुई। इस दौरान दोनों ही दलों के कार्यकर्ताओं ने एक दूसरे को जमकर पीटा।

इसे भी पढ़ें – जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव के नामांकन से पहले BJP को ममता ने दिया झटका, RLD में की वापसी

बीजेपी के कार्यकर्ताओं की कोशिश थी कि सपा के प्रत्याशी को नामांकन करने से रोका जाये, जिसमे वो कामयाब भी हुए। इस बवाल के बीच सपा के पूर्व जिला पंचायत सदस्य की बीजेपी कार्यकर्ताओं ने जमकर पिटाई कर दी। सपा प्रत्याशी जितेन्द्र यादव इस भारी बवाल की वजह से अपना नामांकन नहीं कर पाए, जिसके बाद उन्होंने बीजेपी के कार्यकर्ताओं पर आरोप लगाया कि कलेक्टर कार्यालय उन्होंने बंद कर रखा था, जिस वजह से वो नामांकन नहीं करा पाए। सपा प्रत्याशी का नामांकन होने पर बीजेपी प्रत्याशी साधना सिंह तय है। गोरखपुर की घटना पर पूर्व सीएम अधिलेश यादव ने बीजेपी सरकार पर निशाना साधा है।

सपा अध्यक्ष ने अपने ट्वीट में लिखा कि गोरखपुर व अन्य जगह जिस तरह भाजपा सरकार ने पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में समाजवादी पार्टी के प्रत्याशियों को नामांकन करने से रोका है, वो हारी हुई भाजपा का चुनाव जीतने का नया प्रशासनिक हथकंडा है। भाजपा जितने पंचायत अध्यक्ष बनायेगी, जनता विधानसभा में उन्हें उतनी सीट भी नहीं देगी।

जिला पंचायत अध्यक्ष पद के नामांकन के दौरान सिर्फ गोरखपुर ही नहीं, राज्य के कई जिलों से मारपीट की खबर सामने आ रही है। बागपत में तो आरएलडी प्रत्याशी ने तो बीजेपी सांसद पर ही अपहरण का आरोप लगा दिया। वहीं देवरिया में कलेक्ट्रेट में नामांकन के दौरान सपा कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच झड़प हुई।

इसे भी पढ़ें – जम्मू एयरपोर्ट पर 5 मिनट में हुए दो धमाके, कई घायल, पूरा इलाका सील