Saturday, December 4, 2021

विदेशी बाजार में बिकेगा UP का केला, लखीमपुर खीरी के किसानों के नाम दर्ज हुई उपलब्धि

- Advertisement -
- Advertisement -

लखीमपुर खीरी । उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी के किसानों के नाम पर बड़ी उपलब्धि जुड़ने वाली है। पहली बार ऐसा हो रहा है कि यूपी का केला विदेशों में निर्यात हो रहा है। इस केले की पैदावार लखीमपुर के पलिया कलान क्षेत्र के किसानों ने की है। ईरान के लिए 40 मीट्रिक टन केले की पहली खेप 14 अक्टूबर को रवाना हुई है। इससे पहले महाराष्ट्र और आंध्र प्रदेश जैसे प्रदेशों में सबसे उन्नत तकनीक से केले की पैदावार करते थे, जिसकी वजह से उनके नाम यह उपलब्धि दर्ज थी लेकिन अब लखीमपुर खीरी का नाम भी इसमें जुड़ गया है।

इसे भी पढ़ें : विधानसभा चुनाव से पहले PM मोदी UP को देंगे बड़ी सौगात, 25 अक्टूबर को करेंगे 9 मेडिकल कॉलेजों का लोकार्पण

यूपी के तराई क्षेत्र में उन्नत तकनीक से केले की पैदावार करने के लिए जलवायु अच्छी है लेकिन अब लखीमपुर खीरी के किसानों के नाम पर यह बड़ी उपलब्धि दर्ज हो गई है। क्षेत्र के किसानों को केले की फसल के लिए निर्यात के लिए विदेश से आर्डर मिलना बड़ी बात है। 40 मीट्रिक टन केले की फसल पलिया कलान क्षेत्र के किसानों की ईरान निर्यात किया जा रहा है। उच्चस्तरीय तकनीक और ‘मल्टी मॉडल ट्रांसपोर्ट’ के जरिए निर्यात किया जा रहा है।

विशेष तकनीक की मदद से उत्पादन
आज अगर केले का निर्यात शुरू हुआ है तो इसके पीछे किसानों की मेहनत के साथ उनकी उन्नत तकनीक भी है। केले की शेल्फ लाइफ काफी कम होती है। ज्यादा दिनों तक उसे रखने के लिए न सिर्फ उसके उत्पादन ध्यान दिया है। बल्कि उसकी पैकेजिंग पर ध्यान देना होता है। इसके पेड़ लगाते समय भी तकनीक अपनायी जाती है। वहीं इसकी देखभाल और बचाव की भी एक विशेष तकनीक होती है। जिले में एक हजार एकड़ में इस तकनीक से केला लगाया गया था।

एक्सपर्ट्स का मानना है कि इस तकनीक से केले की पैदावार से यूपी के किसानों का केला विदेशों में जाएगा, जिससे उनकी आमदनी बढ़ेगी। ईरान तक केले पहुंचाने के लिए 40 फ़ीट के दो कंटेनर का प्रयोग किया जाएगा। जो मुंबई के जवाहरलाल नेहरू पोर्ट से रवाना होंगे। यूपी के केले ईरान के बाजार में अगले 15 दिनों में होंगे।

इसे भी पढ़ें : सिंघु बॉर्डर पर दलित युवक की हत्या पर मायावती ने जताया दुख, पंजाब के मुख्यमंत्री से की ये मांग

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -