जबरन धर्म परिवर्तन कराने वालों की अब शामत नहीं, काटनी होगी जेल, भरना पड़ेगा भारी जुर्माना

82
योगी धर्म परिवर्तन

यूपी के मुख्यमंत्री ने धर्म परिवर्तन (Religion change) को लेकर एक फैसला किया है। जिसके द्वारा हो रहे धर्म परिवर्तन पर रोक लगा सकेंगे। इस फैसले के तहत यदि कोई व्यक्ति जबरन (Forcibly), लालच देकर, दबाव बनाकर या अपने प्रभाव में (Under your influence) लेकर किसी का धर्म परिवर्तन कराता है तो उसके खिलाफ एफआईआर (FIR) दर्ज कराई जाएगी। यह एफआईआर पीड़ित के माता-पिता, भाई-बहन या कोई भी रक्त या विवाह संबंधी और गोद लिया हुआ व्यक्ति भी करा सकता है। कानून को उसकी एफआईआर दर्ज करनी भी पड़ेगी।

इसे भी पढ़ें-योगेंद्र यादव ने रची थी दिल्ली हिंसा की साजिश, कांग्रेस सांसद ने लगाए कई गंभीर आरोप

सजा के साथ देना होगा जुर्माना

सरकार द्वारा जारी किए गए इस विधेयक में जबरदस्ती किसी का धर्म परिवर्तन कराने पर अलग-अलग श्रेणियों में एक वर्ष से लेकर 10 वर्ष तक की सजा और पंद्रह हजार से लेकर पचास हजार रुपये तक के जुर्माने का प्रावधान किया गया है। कोर्ट को यह अधिकार दिया गया है कि वह पीड़ित को भुगतान के तहत पांच लाख रुपये तक का हर्जाना देने का आदेश भी कर सकता है। यही नहीं यदि कोई इस अपराध को दोबारा करता है तो उसके लिए दोगुनी सजा का प्रवधान है।

डीएम की लेनी होगी अनुमति

यदि कोई व्यक्ति धर्म परिवर्तन अपनी इच्छा से करना चाहता है तो उसे 60 दिन पहले डीएम या उनके द्वारा अधिकृत किए गए एडीएम के यहां आवेदन करना पड़ेगा। उनकी अनुमति के बाद ही वह अपना धर्म परिवर्तन कर कर सकेगें।

अगर कोई व्यक्ति या संस्था धर्म परिवर्तन कराने के लिए किसी प्रकार का कोई आयोजन करवा रहे हों तो उन्हें एक माह पहले डीएम या एडीएम को इस बात की जानकारी  देनी होगी। इसके बाद डीएम के स्तर से पुलिस द्वारा धर्म परिवर्तन कराया जाएगा। अगर कोई दबाव बनाकर, लालच देकर या अपने प्रभाव का इस्तेमाल करके जिला प्रशासन को गलत सूचना देकर धर्म परिवर्तन करवाता पाया जाएगा तो यह अवैध होगा।

खुद को जबरन धर्मांतरण में निर्दोष साबित करने का भार आरोपी पर ही होगा। धर्म परिवर्तन कराने में परामर्श देने वाले, मदद करने वाले और अपराध के लिए दुष्प्रेरित करने वालों को भी इस अपराध का आरोपी माना जाएगा। अगर उसमें उसके परिवार का भी सदस्य है तो भी उसे कड़ी से कड़ी सजा मिलेगी।

इसे भी पढे़ं-सरकार ने ट्विटर को दी चेतावनी, नियमों का उल्लंघन पड़ सकता है भारी