Saturday, October 16, 2021

‘मौत’ के 19 घंटे बाद चलने लगी किशोर की सांसें, परिवार में मचा हड़कंप

- Advertisement -
- Advertisement -

प्रयागराज। उत्तर प्रदेश प्रयागराज (Prayagraj) में डॉक्टरों की टीम ने सोमवार दोपहर में एक किशोर को मृत घोषित कर दिया था। इसके बाद परिजन शव को घर ले आये लेकिन अचानक मंगलवार को किशोर की सांसे दोबारा चलने लगी तो परिजन उसे लेकर हॉस्पिटल पहुंचे, जहां उन्होंने डॉक्टरों को जब घटना के बारे में बताया तो उन्हें भी विश्वास नहीं हुआ लेकिन जब डॉक्टरों की टीम ने किशोर की जांच की तो पाया कि उसकी सांसे चल रही थीं, जिसके बाद उसे तुरंत ऑक्सीजन सपोर्ट पर रखा गया। हालांकि होनी को कुछ और ही मंजूर था, चार घंटे बाद किशोर की मौत हो गई।

इसे भी पढ़ें : तालिबान के बढ़ते खतरे के बीच CM योगी ने आतंकवाद के खिलाफ उठाया ये बड़ा कदम

किशोर का नाम कमलेश था, जो पिछले कई दिनों से बीमार चल रहा था। परिजनों ने बताया कि उसे दिन दिन पहले ही प्रयागराज पीएचसी में भर्ती कराया गया था। जहां सोमवार सुबह डॉक्टरों ने बताया कि कमलेश की हालत काफी गंभीर हो चुकी है। वहीं तीन बजे के करीब डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। सोमवार को हॉस्पिटल का बिल चुकाने में परिजनों को समय लग गया, जिसके बाद वो सोमवार रात को हॉस्पिटल में ही रुके और मंगलवार को घर पहुंचे। घर में जब कमलेश के शव को नहलाने के लिए पानी डाला तो उसमे कुछ हरकत हुई, जिसे देखकर सभी हैरान रह गए।

परिजनों का कहना है कि कमलेश की सिर्फ सांसे ही नहीं चल रही थीं वो उसके शरीर के अन्य अंग भी हरकत कर रहे थे। परिजन उसे लेकर तुरंत निजी हॉस्पिटल गए। जहां डॉक्टरों की टीम ने उसकी जांच की तो उसे ऑक्सीजन सपोर्ट दिया गया। कमलेश का इलाज करीब चार घंटे तक हॉस्पिटल में चला लेकिन डॉक्टरों की मेहनत कामयाब नहीं हुई और उसकी चार घंटे बाद मौत हो गई। अस्पताल के डॉक्टर्स का भी कहना है कि जब कमलेश को लाया गया था तो उसकी सांसे चल रही थीं लेकिन उसकी हालत काफी नाजुक थी। मेडिकल भाषा में इस मामले को मॉर्बिड अवस्था कहा जाता है, जिसमे शव के अंदर कई तरह के बदलाव होते हैं और अंगों में भी हरक़त होती है।

इसे भी पढ़ें : तालिबान के कसीदे पढ़ने वाले सपा सांसद के खिलाफ संभल में मुकदमा दर्ज, जानें पूरा मामला

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -