Friday, October 22, 2021

लखनऊ में धारा 144 लागू, इन प्रतिबंधों के साथ खुलेंगे बाजार, गाइडलाइंस का उल्लंघन पड़ेगा भारी

- Advertisement -
- Advertisement -

लखनऊ। लखीमपुर खीरी हिंसा के बाद उत्तर प्रदेश में सियासत में उबाल आ गया है। लखनऊ में बढ़ते नेताओं के जमावड़े को देखते हुए राजधानी में 8 नवंबर तक धारा 144 लगा दी गई है। परीक्षाओं और त्योहारों को देखते हुए प्रशासन द्वारा इसे लगाया लगाया है। राजधानी में एक साथ चार से ज्यादा लोगों के खड़े होने की अनुमति नहीं है। सीआरपीसी की धारा 144 को लेकर लखनऊ जिला प्रशासन द्वारा गाइडलाइंस जारी कर दी गई हैं। राजधानी में पूरे फेस्टिवल सीजन धारा 144 लगी रहेगी।

इसे भी पढ़ें : पूर्व राज्यपाल व भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बेबी रानी पहली बार मथुरा पहुंची, किए बांकेबिहारी के दर्शन

नवदुर्गा, रामनवमी, दशहरा, बारा वफात, दीपावली, भाई दूज तक एक साथ चार से ज्यादा लोगों के खड़े होने पर पाबंधी रहेगी। इस दौरान बिना प्रशासन की अनुमति के भीड़ जुटाने पर भी रोक रहेगी। सांप्रदायिक तनाव फैलाने की सामग्री छापने पर भी प्रशासन द्वारा कार्रवाई की जाएगी। राजधानी में कोई भी रैली, धरना-प्रदर्शन करने पर रोक रहेगी। अगर बिना अनुमति के रैली या कार्यक्रम राजधानी में होता है तो आयोजकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी।

सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम
पुलिस प्रशासन द्वारा आने वाले दिनों में नवरात्र सहित अन्य त्योहारों को देखते हुए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं। डीजीपी मुकुल गोयल ने बताया है कि फील्ड के अधिकारियों को आगामी त्योहारों को देखते हुए निर्देश जारी कर दिए गए हैं। इस दौरान किसी भी तरह के त्योहार को गंभीरता से लेते हुए तुरंत सख्त कार्रवाई की जाएगी। रिपोर्ट्स के मुताबिक 138 कंपनी पीएसी और 5 कंपनी अर्ध सैनिक बल की तैनाती सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता करने के लिए प्रदेश के अलग-अलग जिलों में की गई है।

अफवाह फैलाने वालो पर की जाएगी सख्ती
लिखित, मौखिक और सोशल मीडिया के माध्यम अफवाह फैलाने वालों पर पुलिस द्वारा सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं। अगर किसी भी व्हाट्सएप के ग्रुप भड़काऊ, अफवाह फैलाने वाली पोस्ट आती है तो उसे एडमिन को डिलीट करना होगा, जिसके बाद इसकी जानकारी पुलिस को देनी होगी।

इसे भी पढ़ें : आम जनता को लगा बड़ा झटका, फिर बढ़ें LPG सिलेंडर के दाम, जानें नए रेट

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -