Friday, October 22, 2021

प्रियंका ने भरी हुंकार, कहा – आ चुका है सरकार बदलने का समय, किसानों को PM ने कहा ‘आंदोलनजीवी’ तो CM ने बताया ‘उपद्रवी’

- Advertisement -
- Advertisement -

वाराणसी। यूपी में आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए राजनीतिक दलों ने अपनी-अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने रविवार को वाराणसी में जनसभा को संबोधित करने से पहले बाबा विश्वनाथ मंदिर और मां दुर्गा मंदिर में पूजा-अर्चना की। मंदिर से निकलने के बाद प्रियंका ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि चुनाव से काशी विश्वनाथ दर्शन का कोई लेना देना नहीं है। मेरी आस्था है और जब भी मैं वाराणसी आती हूं तो दर्शन के लिए मंदिर जरूर आती हूं।

इसे भी पढ़ें : UP में गहराया बिजली संकट, गांव से लेकर शहरों में जबरदस्त कटौती शुरू, CM योगी ने PM मोदी से की ये मांग

लखीमपुर खीरी हिंसा के बाद पीएम नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र में कांग्रेस महासचिव ने किसान न्याय रैली को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार बदलने का समय अब आ चुका है। 6 किसानों को देश के गृह राज्य मंत्री के बेटे ने अपनी गाड़ी के नीचे कुचल कर मार दिया। पीड़ित परिवारों की मांग है कि हमे न्याय चाहिए मुआवज़ा नहीं। मौजूदा सरकार में न्याय दिलाने वाला कोई दिख नहीं रहा है।

आजादी का अमृत महोत्सव मनाने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी लखनऊ तक आए लेकिन पीड़ित परिवारों का दर्द बांटने के लिए वो लखीमपुर नहीं गए। वाराणसी में ‘किसान न्याय रैली’ का आगाज आगाज मंत्रोचार, शंखनाद, हर-हर महादेव के साथ कुरान की आयात और गुरुवाणी से हुआ। मंच पर मौजूद नेताओं ने पहले हर हर महादेव जयकारा लगाया, जिसके बाद कुरान की आयत और गुरुवाणी का पाठ भी किया गया।

प्रियंका गांधी ने पीएम मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधते हुए सरकार को कृषि कानून, किसान आंदोलन, लखीमपुर खीरी हिंसा, बेरोजगारी, हाथरस की घटना सहित अन्य मामलों में घेरा। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी ने आंदोनकारी किसानों को ‘आंदोलनजीवी’ कहा। सीएम योगी ने उन्हें ‘उपद्रवी’ कहा। जबकि केंद्रीय गृहराज्य मंत्री ने कहा कि ‘दो मिनट में सबक सिखा दूंगा।’

प्रियंका ने कहा कि पिछले दस माह से किसान आंदोलन कर रहे हैं। इस दौरान 600 से अधिक किसानों की मौत हो चुकी है। नए कानून से आपकी जमीन छीन जाएगी। देश की जनता आज दुखी हैं और त्रस्त हैं क्योंकि उनकी आमदनी बन्द है। वहीं प्रधानमंत्री के ‘मित्र’ हजारों करोड़ कमा रहे हैं।

इसे भी पढ़ें : लखीमपुर खीरी हिंसा : वरुण गांधी का बड़ा दावा, कहा – हिंसा को हिंदू बनाम सिख बनाने की जारी है कोशिश

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -