अतीक के लाल बंगले पर टिकी पुलिस की नजर, इसी के लिए प्रॉपर्टी डीलर की देवरिया जेल में हुई थी पिटाई

146

प्रयागराज। माफिया अतीक अहमद पर उत्तर प्रदेश पुलिस का शिकंजा लगातार कसता जा रहा है। अब पुलिस की निगाह प्रयागराज के उसके करोड़ों के लाल बंगले पर आकर टिक गई है। आरोप है कि अतीक एंड कंपनी ने अवैध तरीके से अर्जित संपत्ति से इस बंगले को खड़ा किया है। इसी लाल बंगले को लेकर प्रॉपर्टी डीलर जैद की देवरिया जेल में लाकर पिटाई हुई थी। पुलिस अब इस संपत्ति को गैंगस्टर एक्ट के तहत कुर्क करने की तैयारी में है। प्रयागराज सिविल लाइंस पुलिस ने कार्रवाई करने के लिए अपनी रिपोर्ट भेज दी है।

इसे भी पढ़ें: हिंदू कभी भारत विरोधी नहीं हो सकता, देशभक्ति ही उसका मूल चरित्र : मोहन भागवत

इस संदर्भ में पुलिस ने बताया कि माफिया अतीक अहमद के साथ मिलकर प्रॉपर्टी डीलर जैद, आबिद प्रधान और उसका दामाद धूमनगंज में प्लाटिंग करते थे। इसके बदले में कमाई का एक हिस्सा अतीक अहमद को पहुंचाते थे। अतीक अहमद के जेल जाने के बाद भी यह सिलसिला जारी था। बतरौली स्थित मोहम्मद जैद के मकान के पीछे कोरोड़ों की प्रॉपर्टी है, जिसे लोग लाल बंगला के नाम से जानते हैं। इस प्रॉप्रर्टी पर अतीक के साथ जैद की भी नजर थी, बताया जा रहा है इसी को लेकर दोनों के बीच टकराव की स्थिति बनी। इसी सिलसिले में अतकी अहमद ने वर्ष 2019 में जैद को धूमनगंज से देवरिया जेल बुलाया और यहां पर उसकी जमकर पिटाई की थी।

जनवरी, 2020 में इसी मामले को लेकर धूमनगंज थाने में अतीक अहमद और उसके गर्गों के खिलाफ मुकदम दर्ज किया गया था। इतना ही नहीं धूमनगंज पुलिस ने अतीक और उनके करीबियों पर कार्रवाई करते हुए गैंगस्टर एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया, जिसकी जांच सिविल लाइंस पुलिस को मिल गई। जांच में पुलिस को पता चला कि लाल बंगला आबिद प्रधान के छोटे भाई माजिद की पत्नी शमा अफरोज के नाम पर दर्ज है। पुलिस का आकलन है कि 15 बिस्वा में बनाई गई यह प्रॉपर्टी करोड़ों रुपए की होगी। इतना ही नहीं अवैध तरीके से अर्जित किए गए धन से इस मकान का निर्माण कराया गया है। सिविल लाइंस पुलिस ने इस संपत्ति को कुर्क करने से संबंधित अपनी रिपोर्ट भेज दी है।

इसे भी पढ़ें: यूपी गेट पर धरनारत किसान ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में इन्हें ठहराया जिम्मेदार