Saturday, October 16, 2021

UP के सभी जिलों में नई सुरक्षा व्यवस्था लागू, पुलिसकर्मियों की छुट्टियां रद्द

- Advertisement -
- Advertisement -

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने किसान संगठनों द्वारा घोषित कार्यक्रमों और नवरात्रि (दुर्गा पूजा) को देखते हुए प्रदेश में कानून-व्यवस्था को बनाए रखने के लिए गृह विभाग द्वारा सख्त दिशा निर्देश जारी किये गए हैं। शासन द्वारा निर्देशों में कहा गया है कि कार्यक्रम स्थलों पर पर्याप्त पुलिस बल की तैनात किया जाये और अगले आदेश तक सेक्टर व्यवस्था लागू करने के लिए कहा गया है। योगी सरकार ने राज्य के 13 संवेदनशील जिलों में 20 वरिष्ठ पुलिस अफसरों की तैनाती की गई है। जो आवंटित जिलों में ही कैम्प करेंगे। लखीमपुर खीरी हिंसा के बाद जिले में तनाव को देखते हुए जिले में आईजी लक्ष्मी सिंह और एडीजी एसएन साबत मौजूद रहेंगे। बरेली में एडीजी अविनाश चंद्र, बहराइच में एडीजी अखिल कुमार, आईजी राकेश सिंह और डीआईजी पीएसी आशुतोष शुक्ला और मेरठ में एडीजी मेरठ जोन राजीव सब्बरवाल को तैनात किया गया है।

इसे भी पढ़ें : 5 जिलों से निकलेगा अखिलेश यादव का विजय रथ, पार्टी कार्यकर्ताओं के लिए दिशा-निर्देश जारी

गाजियाबाद में आईजी मेरठ रेंज प्रवीण कुमार, पीलीभीत में आईजी बरेली रमित शर्मा, एसपी 112 अजय पाल और एडिशनल एसपी अनिल कुमार झा, शामली में आईजी रेलवे सत्येंद्र कुमार सिंह, अमरोहा में डीआईजी विजिलेंस एलआर कुमार, मुजफ्फरनगर में आईजी ईओडब्ल्यू हीरालाल, मुरादाबाद में डीआईजी शलभ माथुर, शाहजहांपुर में डीआईजी रविशंकर छवि, डिप्टी कमांडेंट राम सुरेश, किसान आंदोलन के लिए रामपुर में उप सेनानायक अरुण कुमार दीक्षित को तैनात किया गया है। जबकि बिजनौर में डीआईजी राम लाल वर्मा और उप सेनानायक हरेंद्र कुमार को तैनात किया गया है।

अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने सभी मंडलायुक्तों, पुलिस कमिश्नरों, आईजी-डीआईजी रेंज, डीएम और जिलों के पुलिस कप्तानों को आदेश दिया है, जिसमे कहा गया है कि ‘त्योहारों का समय प्रारंभ हो चुका है। शांतिपूर्ण वातावरण प्रदेश में बना रहे इसके लिए सभी नियोजित प्रयास किए जाएं।’ सभी डीएम, पुलिस कप्तानों और प्रशासन के सभी अंग सतर्क रहें। संपर्क-संवाद किसान संगठनों, दुर्गा पूजा कमेटियों, धर्माचार्यों और सिविल सोसाइटी के साथ बनाया जाए। अराजक और उपद्रवी तत्वों पर नजर रखी जाए और उनके साथ पूरी कठोरता की कार्रवाई की जाये।

इसे भी पढ़ें : UP में एनकाउंटर के बहाने मुसलमानों को बनाया जा रहा है निशाना : असदुद्दीन ओवैसी

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -