लापरवाही : कोरोना वैक्सीन लगवाने गई महिलाओं को लगा दिया रैबीज का टीका, एक की तबियत बिगड़ी

166
vaiccinetion

शामली। उत्तर प्रदेश के शामली जिले के कांधला सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में लापरवाही का एक बड़ा मामला सामने आया है जिससे स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया है। यहां कोरोना वैक्सीन का टीका लगवाने आयी तीन महिलाओं को रैबीज का टीका लगा दिया गया। इनमें से एक महिला की तबियत बिगड़ने के बाद मामला सामने आया जिस पर महिलाओं के परिजनों ने हंगामा करना शुरू कर दिया। इसके बाद मामले की शिकायत सीएमओ से की गई है।

इसे भी पढ़ें:-देश फिर सिर उठा रहा कोरोना, लोगों की लापरवाही पर दोबारा लग सकता है लॉकडाउन

जानकारी के मुताबिक टीका लगवाने आयी महिलाओं में कांधला निवासी सरोज (70), अनारकली (72) और 60 वर्षीय सत्यवती हैं। यह तीनों सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर कोविड -19 वैक्सीन की पहली डोज लेने पंहुची थी। आरोप है कि स्वास्थ्य केंद्र पर मौजूद कर्मचारियों ने पहले तो उन महिलाओं से बाहर से 10-10 रूपये की खाली सिरिज मंगाई और फिर उसी सिरिंज से उन्हें रैबीज का टीका लगाने के बाद उन्हें घर चले जाने को बोल दिया गया। इसके बाद महिलाएं वापस घर आ गयीं। वहीं टीका लगवाने के बाद जब 70 वर्षीय सरोज घर पहुंची तभी उनकी तबियत बिगड़ने लगी। महिला को चक्कर आने के साथ ही घबराहट होने की समस्या शुरू हो गयी।

पर्ची देख उड़े डॉक्टर के होश

परिजन उन्हें आनन-फानन में निजी डॉक्टर के पास ले गए। परिजनों ने डॉक्टर को वैक्सीनेशन की पर्ची दिखाई। पर्ची देख डॉक्टरों के होश उड़ गए और उन्होंने बताया के स्वास्थ्य केंद्र पर महिला को कोरोना का नहीं बल्कि रेबीज का टीका लगाया गया है। इस पर दो अन्य महिलाओं की भी जांच की गयी तो पता चला के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर उन्हें कोरोना की जगह रैबीज का टीका लगा दिया गया। मामले का खुलासा होते ही परिजनों ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर हंगामा शुरू कर दिया और सीएमओ संजय अग्रवाल से कार्रवाई की मांग की है।

इसे भी पढ़ें:-कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच सील हुईं 1,305 इमारतें, लापरवाही लोगों को पड़ी भारी