हिंसक हुए प्रदर्शनकारी किसान, एसएसपी की गाड़ी में की तोड़फोड़, भाग कर बचाई जान

266

मुरादाबाद। नए कृषि कानूनों के विरोध में यूपी से दिल्ली की तरफ जा रहे किसानों ने उग्र रूप ले लिया है। किसानों की उग्र भीड़ ने मुरादाबाद में एसएसपी की गाड़ी पर हमला बोल दिया। जानकारी के अनुसार यहां किसानों को रोकने के लिए पुलिस की तरफ से बैरिकेडिंग की गई थी, जिसे किसानों ने तोड़ दिया। इस दौरान पुलिस और किसानों के बीच जमकर झड़प हुई, जिसमें मुरादाबाद के एसएसपी प्रभाकर चौधरी घायल हो गए हैं। एसएसपी के पैर में चोट आई है। बताया जा रहा है इस दौरान उन्होंने किसी तरह से भागकर अपनी जान बचाई। इतना ही नहीं, मुरादाबाद के एसपी शगुन गौतम पर भी उग्र किसानों ने हमला बोल दिया। उन्होंने भी भागकर किसी तरह अपनी जान बचाई।

इसे भी पढ़ें: लखनऊ पहुंचे मनीष सिसौदिया ने सिद्धार्थनाथ सिंह को दी बहस की चुनौती, खाली पड़ी रही कुर्सी

मुरादाबाद से मिल रही खबरों के मुताबिक पुलिस किसानों को दिल्ली की तरफ आगे बढ़ने से रोक रही थी। इसी को लेकर किसान उग्र हो गए और पुलिस बल पर हमला बोल दिया। बताते चलें कि काफी बड़ी संख्या में किसान दिल्ली की तरफ जा रहे थे। वहीं कृषि कानूनों के विरोध में पिछले कई दिनों से किसान दिल्ली के बॉर्डर पर डटे हुए हैं। इसी आंदोलन का हिस्सा बनने के लिए रामपुर से किसानों का जत्था दिल्ली के लिए निकला है। ट्रैक्टर ट्रॉली से किसानों का समूह दिल्ली की तरफ जा रहा था। किसानों की संख्या 150 से 200 बीच बताई जा रही है।

 

उल्लेखनीय है कि पंजाब और हरियाणा से आए किसान दिल्ली की सीमाओं पर डटे हुए हैं। किसानों के आंदोलन का आज 27वां दिन है। इस बीच सरकार और किसान संगठनों के बीच कई स्तर की वार्ता भी हो चुकी है। लेकिन अभी तक कोई नतीजा नहीं निकल सका है। सरकार जहां किसानों से कानूनों में बदलाव करने के सुझाव मांग रही है, वहीं किसान संगठन कानूनों को वापस लिए जाने की मांग पर अड़े हुए हैं। हालांकि नए कृषि कानूनों के समर्थन में अब कुछ किसान संगठन भी मुखर हो रहे हैं। विरोध करने वाले संगठनों की संख्या उनपर भारी पड़ रही है।

इसे भी पढ़ें: पुलिस को देख पिछले दरवाजे से भागे बादशाह, सुरेश रैना सहित 34 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज