Saturday, December 4, 2021

मनीष गुप्ता हत्याकांड : SIT पर नहीं है भरोसा, CBI जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट पहुंचीं मीनाक्षी गुप्ता

- Advertisement -
- Advertisement -

कानपुर। यूपी के गोरखपुर में पुलिस की पिटाई से कानपुर के कारोबारी मनीष गुप्ता की मौत का मामला अब सुप्रीम कोर्ट में पहुंच गया है। मनीष की पत्नी मीनाक्षी गुप्ता का कहना है कि उन्हें उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा मामले की जांच के गठित एसआईटी पर भरोसा नहीं है, जिसके बाद उन्होंने सुप्रीम कोर्ट में रिट दायर कर मामले की सीबीआई जांच कराने की मांग की है क्योंकि यूपी पुलिस ने हत्या के मामले को हादसा बताया था। निर्भया का केस लड़ने वाली एडवोकेट सीमा समृद्धि ने मीनाक्षी की तरफ से कोर्ट में याचिका दायर की है।

इसे भी पढ़ें : पुलिस हिरासत में मारे गए सफाईकर्मी के परिवार से मिलीं प्रियंका गांधी, कहा – UP में कानून व्यवस्था हुई ध्वस्त

कानपुर के कारोबारी मनीष गुप्ता की पिछले माह गोरखपुर के होटल में पुलिस ने क्रूरता से पीट-पीटकर हत्या कर दी थी। इसके मामले में काफी तूल पकड़ा था, जिसके बाद प्रदेश सरकार ने मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन कर दिया था। आरोपी पुलिसकर्मियों को घटना के बाद राज्य सरकार द्वारा सस्पेंड कर दिया था। घटना में शामिल सभी आरोपी फिलहाल जेल में हैं।

मनीष गुप्ता की पत्नी मीनाक्षी को यूपी पुलिस की जांच पर भरोसा नहीं है। इस वजह से उन्होंने सीबीआई जांच की मांग सुप्रीम कोर्ट में रिट फाइल करके की है। वहीं प्रदेश सरकार ने कानपुर विकास प्राधिकरण में मीनाक्षी गुप्ता को ओएसडी के पद पर तैनात किया है।

सीबीआई जांच की मांग
बताया जा रहा है कि सुप्रीम कोर्ट की वकील सीमा समृद्धि ने पिछले दिनों फेसबुक पर वीडियो चैट के जरिए मीनाक्षी गुप्ता से बात की थी। इस दौरान सीबीआई जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर करने के लिए सीमा ने मीनाक्षी से कहा था। इसके बाद ही मीनाक्षी ने पति मनीष गुप्ता की हत्या की जांच सीबीआई से कराए जाने के लिए सुप्रीम कोर्ट याचिका दी।

कोर्ट में दायर याचिका में उन्होंने बताया है कि पुलिस ने मनीष की हत्या को दुर्घटना बताया है। उन्हें राज्य सरकार द्वारा गठित एसआईटी पर भरोसा नहीं है क्योंकि हत्या के 48 घंटे बाद मामले में एफआईआर दर्ज की गई थी।

इसे भी पढ़ें : आर्यन से मिलने के लिए आर्थर रोड जेल पहुंचे शाहरुख खान, 15 मिनट चली मुलाकात

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -