यूपी में बिगड़ा मौसम का मिजाज, जनवरी में टूट रहा गर्मी का रिकॉर्ड

564

लखनऊ। पहाड़ी क्षेत्रों में लगातार हो रही बर्फबारी से जहां जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया वहीं उत्तर प्रदेश में मौसम का मिजाज इस कदर बिगड़ा है कि जनवरी माह में तापमान ने बीते कई वर्षों का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। यहां लोगों को जनवरी में फरवरी माह का अनंद मिल रहा है। कल यानी बुधवार को राजधानी लखनऊ में दिन का तापमान 28.9 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया था जो सामान्य से आठ डिग्री अधिक था। बताया जा रहा है कि इससे पहले ऐसा वर्ष 1992 में जनवरी का पहला दिन सबसे गर्म रहा था। उस दिन यहां का पारा 31.6 डिग्री तक पहुंच गया था। इसी तरह वर्ष 2016 में भी जनवरी में पारा काफी चढ़ा लेकिन महीने के आखिरी में 31 जनवरी, 2016 को अधिकतम तापमान 28.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था।

इसे भी पढ़ें: ड्रग केस: इस अभिनेत्री को भेजा गया 14 दिन की न्यायिक हिरासत में

मौसम वैज्ञानिकों की मानें तो पश्चिमी विक्षोभ के चलते देश के उत्तर पश्चिम में दबाव दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। हालांकि पछुआ हवा कमजोर पड़ गया है और हवा में आद्रता बढ़ गई है। इसी के चलते तापमान में बढ़ोतरी देखी जा रही है। ठंड के मौसम में दिन का आलम यह हो गया है कि लोग बिना स्वेटर और जैकेट के देखे जा रहे हैं। बीते दो दिनों में मौसम में इस तरह का बदलाव देखा जा रहा है। वहीं आईएमडी की मानें तो अभी पारा नीचे आने के लक्षण नहीं दिख रहे हैं। जबकि यह पूर्वानुमान लगाया जा रहा है कि अगले दो दिनों तक तापमान 28 डिग्री सेल्सियस रहने वाला है। पिछले 24 घंटों में न्यूनतम तापमान 12.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है जो सामन्य से पांच डिग्री अधिक है। जबकि हवा में नमी 91 फीसदी तक दर्ज की जा रही है।

गौरतलब है बीते दो-तीन दिनों में देश के कई हिस्सों में बूंदाबादी के साथ बर्फबारी भी हुई है। दिल्ली-उत्तराखंड में तो मंगलवार-बुधवार के मध्य जबरदस्त बारिश के साथ ओले भी पड़े हैं। उत्तर प्रदेश में भी बारिश होने का पूर्वानुमान था, लेकिन हल्की बूंदाबादी के बाद आज मौसम एकदम साफ हो गया है। माना जा रहा है कि दिल्ली और उत्तरखंड में पड़े ओले की वजह से ठंड बढ़ सकती है, लेकिन मौसम विभाग ने ऐसी कोई उम्मीद नहीं जताई है।

इसे भी पढ़ें: सुप्रीम कोर्ट की चिंता…कहीं किसानोंं की स्थिति भी तबलीगी जमात जैसी न हो जाए, जानें कोर्ट ने ऐसा क्यों कहा