मुजफ्फरनगर दंगे में सुरेश राणा और संगीत सोम सहित तीन नेताओं को मिली बड़ी राहत

36

लखनऊ। मुजफ्फरनगर दंगे में योगी सरकार ने तीन पार्टी नेताओं को बड़ी राहत दी है। योगी सरकार ने कैबिनेट मंत्री सुरेश राणा, विधायक संगीत सोम और कपिल देव पर दर्ज मुकदमों को वापस लेने का फैसला लिया है। ज्ञात हो कि मुजफ्फरनगर के एडीजे कोर्ट में सरकारी वकील राजीव शर्मा ने मुकदमा वापसी के लिए अर्जी दी थी। हालांकि इस अर्जी पर कोर्ट ने अभी तक कोई फैसला नहीं सुनाया है।

इसे भी पढ़ें: पालघर: साधुओं की पीट-पीटकर हत्या के मामले में हुई 19 और गिरफ्तारियां, हुआ बड़ा खुलासा

गौरतलब है कि 7 सितंबर, 2013 को नंगला मंदौड़ की महापंचायत के बाद इन नेताओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था। इन भाजपा नेताओं पर भड़काऊ भाषण देने, धारा 144 का उल्लंघन करने, आगजनी और तोड़फोड़ करने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया था। बताते चलें कि मुजफ्फरनगर में सचिन और गौरव की हत्या की घटना के बाद यह महापंचायत बुलाई गई थी।

जानकारी के अनुसार मुजफ्फरनगर दंगे की शुरुआत 27 अगस्त, 2013 को यहां के कवाल गांव से हुई थी। यहां सचिन और गौरव की शाहनवाज के साथ किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया था। इसी झगड़े के बाद शाहनवाज की हत्या कर दी गई थी। इसके बाद सचिन और गौरव की भी पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी। इन हत्याओं के बाद मुजफ्फरनगर और उसके आसपास के क्षेत्रों में आक्रोश काफी बढ़ गया और सांप्रदायिक दंगे भड़क गए। इन दंगों में 60 लोगों की जान चली गई थी, जबकि 40 हजार से अधिक लोग विस्थापित हो गए थे।

इसे भी पढ़ें: साल 2020 रहा पत्रकारों के लिए बेहद खतरनाक, सर्वाधिक पत्रकारों की हुई हत्या