लव जिहाद के खिलाफ सीएम योगी की इस घोषणा पर भड़के ओवैसी, दे डाली यह चुनौती

167

लखनऊ। प्रदेश में बढ़ते लव जिहाद के मामले को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तरफ से कानून बनाने बयान पर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने आपत्ति जताते हुए उनकी योग्यता पर सवाल उठाते हुए अध्ययन करने की बात कही है। बता दें कि उत्तर प्रदेश सहित देश के विभिन्न हिस्सों से लव जिहाद के मामले सामने आते रहते हैं। बावजूद इसके अभी तक इसके खिलाफ कोई कानून नहीं बनाया जा सकता है। लव जिहाद के खिलाफ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की हूंकार के बाद हरियाणा सरकार ने भी इसके खिलाफ कानून बनाने की बात कही है। वहीं कानून बनने से पहले इसके खिलाफ भड़के ओवैसी ने सीएम योगी को चुनौती तक दे डाली।

इसे भी पढ़ें: काबुल यूनिवर्सिटी के पास आतंकी हमला, 20 की मौत, गोलीबारी जारी

गौरतलब है कि जौनपुर के मल्हनी विधानसभा में उप चुनाव के प्रचार के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में लव जिहाद के खिलाफ कानून बनाने की बात कही थी। उनके इस बयान के खिलाफ एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने उनकी शैक्षिक योग्यता पर सवाल खड़ा कर दिया है। उन्होंने कहा कि योगी आदित्यनाथ को लव जिहाद पर कानून बनाने से पहले आर्टिकल 21 का अच्छी तरह से पढ़ना चाहिए। अगर उन्हें कानून की जानकारी नहीं है तो अच्छे वकील से समझना चाहिए। ओवैसी यही ही नहीं रुके उन्होंने एनआरसी व एनसीआर को भी संविधान विरोधी कानून करार दिया।

बताते चले कि अन्य राज्यों के मुकाबले उत्तर प्रदेश में अब तक लव जिहाद के कई मामले सामने आ चुके हैं। ऐसे में इसके खिलाफ कड़े कानून बनाए जाने की मांग को लेकर प्रदर्शन भी किए जा रहे हैं। जौनपुर के चुनावी जनसभा के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ऐसी घिनौनी नीयत रखने वालों को आगाह करते हुए कहा था कि बहू—बेटियों की अस्मिता से खिलवाड़ करने वालों का राम नाम सत्य हो जाएगा।

इसे भी पढ़ें: यूपी विधान परिषद के चुनाव की तारीखों की घोषणा, वोटिंग 1 दिसंबर को, 3 को आएंगे नतीजे