Saturday, October 16, 2021

लखीमपुर खीरी हिंसा : वरुण गांधी ने CM योगी को लिखा पत्र, कहा – हृदय विदारक घटना की हो CBI जांच

- Advertisement -
- Advertisement -

लखनऊ। यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य (Keshav Prasad Maurya) के लखीमपुर खीरी (Lakhimpur Kheri) दौरे से पहले हुई हिंसा के बाद प्रशासन ने जिले में धारा 144 लगा दी है। इस बीच पीलीभीत से बीजेपी सांसद वरुण गांधी (Varun Gandhi) ने सीएम योगी आदित्‍यनाथ (Yogi Adityanath) को पत्र लिखकर मांग की है कि हिंसा मामले की जांच सीबीआई से कराई जाए। मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में वरुण गांधी ने कहा है कि ‘विरोध प्रदर्शन कर रहे किसानों को निर्दयतापूर्वक कुचलने की जो हृदय विदारक घटना लखीमपुर खीरी में हुई है। उससे देश के नागरिकों में एक पीड़ा और गुस्सा है।

Lakhimpur Kheri Violence, Varun Gandhi, Yogi Adityanath, CBI Probe, UP News

इसे भी पढ़ें : धरने पर बैठे अखिलेश यादव को लखनऊ पुलिस ने हिरासत में लिया

घटना से एक दिन पहले ही देश ने अंहिसा के पुजारी महात्मा गांधी जी की जयंती मनाई थी लेकिन अगले ही दिन लखीमपुर खीरी में हमारे अन्नदाताओं की जिस घटनाक्रम में हत्या की गई, वो किसी भी सभ्य समाज में अक्षम्य हैं। आन्दोलन कर रहे किसान भाई हमारे अपने नागरिक हैं। अगर कुछ मुद्दों को लेकर किसान भाई पीड़ित हैं और अपने लोकतांत्रिक अधिकारों के तहत विरोध प्रर्दशन कर रहें हैं तो हमें उनके साथ बड़े ही संयम एवं धैर्य के साथ बर्ताव करना चाहिए।

वरुण गांधी ने लिखा है कि ‘अपने किसानों के साथ हमें हर हाल में सिर्फ और सिर्फ गांधीवादी, लोकतांत्रिक तरीके से कानून के दायरे में ही संवेदनशीलता के साथ पेश आना चाहिए। इस घटना में शहीद हुए किसान भाइयों को श्रद्धांजलि देते हुए मैं उनके परिजनों के प्रति अपनी शोक संवेदनाएं प्रकट करता हूं। मेरा आपसे निवेदन है कि इस घटना में संलिप्त तमाम संदिग्धों को तत्काल चिन्हित कर आईपीसी की धारा 302 के तहत हत्या का मुकदमा कायम कर सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए।

इस विषय में आदरणीय सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में सीबीआई द्वारा समयबद्ध सीमा में जाँच करवाकर दोषियों को सजा दिलवाना ज्यादा उपयुक्त होगा। इसके अलावा पीड़ित परिवारों को एक-एक करोड़ रुपए का मुआवजा भी दिया जाए। यह भी सुनिश्चित किया जाये कि भविष्य में किसानों के साथ इस प्रकार का कोई भी अन्याय या अन्य ज्यादती ना हो।आशा है इस घटना की गंभीरता को देखते हुए आप (सीएम) मेरे निवेदन पर तत्काल कार्यवाही करने का कष्ट करेंगे।

इसे भी पढ़ें : केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के बेटे आशीष मिश्रा ने सभी आरोपों को नकारा, मामले की जांच को लेकर की ये बड़ी मांग

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -