Friday, October 22, 2021

लखीमपुर खीरी हिंसा : आरोपियों को घटनास्थल पर लेकर पहुंची SIT, किया क्राइम सीन का रीक्रिएशन

- Advertisement -
- Advertisement -

लखीमपुर खीरी। यूपी के लखीमपुर खीरी के तिकुनिया गांव में 3 अक्टूबर को हुई हिंसा की जांच कर रही एसआईटी की टीम गुरुवार को घटनास्थल पर पहुंची है। जांच दल अपने साथ हिंसा के आरोपी आशीष मिश्रा, अंकित दास, लतीफ और शेखर को भी लेकर मौके पर पहुंचा है। टीम वारदात की रिक्रिएशन कर मामले की जांच की जा रही है। आशीष मिश्रा सहित चार आरोपियों को लेकर गुरुवार सुबह एसआईटी क्राइम ब्रांच के ऑफिस पहुंची। जहां चारों आरोपियों को आमने-सामने बैठाकर पूछताछ की गई। एसआईटी चारों आरोपियों के बयानों को क्रॉस चेक करना चाहती थी।

इसे भी पढ़ें : हिंदुत्व के एजेंडे ने बढ़ाई विपक्ष की मुश्किलें, नेताओं के सिर और मंच से गायब हुए मुस्लिम प्रतीक

पूछताछ के बाद एसआईटी की टीम चारों आरोपियों को लेकर घटनास्थल के लिए रवाना हो गई। बताया है कि घटनास्थल पर किसी अनहोनी से बचने के लिए पीएसी के साथ रैपिड एक्शन फोर्स को तैनात किया गया है। फिलहाल टीम सीन रिक्रिएशन कर रही है। एसआईटी के साथ लखनऊ की विधि विज्ञान प्रयोगशाला की टीम भी मौके पर मौजूद है।

आशीष की जमानत याचिका खारिज
गौरतलब है कि, बुधवार को सीजेएम कोर्ट ने आशीष मिश्रा की जमानत अर्जी को खारिज कर दिया था। वहीं आशीष की परेशानी को अंकित दास बढ़ा सकते हैं। क्राइम ब्रांच ने अंकित को बताया है कि घटना से कुछ समय पहले ही उसकी राईस मिल पर आशीष मिश्रा से मुलाकात हुई थी। अंकित जब उसे (आशीष) को किसानों के प्रदर्शन के बारे में जानकारी दी तो वो भड़क गया और कहा कि चलो सबक सिखाते हैं।

अंकित यह भी बताया है कि वो घटना वाले दिन डिप्टी सीएम केशव मौर्या को रिसीव करने भी गया था। उसने बताया है कि मैं थार के पीछे चल रही काले रंग की फार्च्यूनर में था जिसे शेखर भारती चला रहा था। अंकित ने बताया है कि थार से किसानों को कुचला गया। फिलहाल अंकित ने अब तक इस बारे में कुछ भी नहीं साफ़ बताया है कि थार में आशीष घटना के समय मौजूद था या नहीं।

इसे भी पढ़ें : अतीक अहमद के कब्जे से खाली कराई गई जमीन पर गरीबों के लिए बनेंगे फ्लैट, योगी सरकार का बड़ा फैसला

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -