Saturday, October 16, 2021

लखीमपुर खीरी हिंसा : SC ने UP सरकार को लगाई फटकार, पूछा – 302 के मामले में अब तक क्यों नहीं हुई गिरफ्तारी

- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली। लखीमपुर खीरी हिंसा मामले उत्तर प्रदेश सरकार को सुप्रीम कोर्ट ने जमकर फटकार लगाई। सरकार द्वारा मामले में की गई अब तक की कार्रवाई से कोर्ट संतुष्ट नहीं है क्योंकि हिंसा के मामले में मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा की गिरफ्तारी अब तक नहीं हुई है। इस पर कोर्ट ने नाराजगी जताई है। वहीं मामले की अगली सुनवाई 20 अक्टूबर को होगी। यूपी सरकार की ओर से कोर्ट में पेश हुए सीनियर वकील हरीश साल्वे ने मृतक किसानों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि गोली लगने से किसी की भी मौत नहीं हुई है, जिस पर चीफ जस्टिस ने कहा कि मौत गोलियां लगने की वजह से हुई या किसी और वजह से लेकिन मामला हत्या का है ना?

इसे भी पढ़ें : लखीमपुर खीरी हिंसा : पुलिस को आशीष मिश्रा के खिलाफ मिला अहम सबूत! आरोपी की मुश्किलें बढ़ना तय

सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस ने कहा कि ऐसा लगता है उत्तर प्रदेश सरकार ने सही और उचित कदम नहीं उठाया है। सीबीआई को हम केस नहीं देना चाहते। वहीं मामले की गंभीरता को देखते हुए कोई टिप्पणी भी नहीं करना चाहते लेकिन प्रदेश सरकार द्वारा एक आम मामले की तरह आरोपी पर शीघ्र कार्रवाई लेनी चाहिए थी। हरीश साल्वे ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि अभियुक्त आशीष मिश्रा को नोटिस भेजा गया है, जिसे आज (शुक्रवार) पेश होना था लेकिन उसने कल (शनिवार) सुबह तक का टाइम मांगा है। शनिवार सुबह 11 बजे तक हमने उसे मोहलत दी है। मुख्य न्यायाधीश ने पूछा कि इतने गंभीर आरोपों पर जिम्मेदार सरकार और प्रशासन अलग बर्ताव क्यों कर रहा है? जब मामला 302 का है तो अब अन्य मामलों की तरह गिरफ्तारी क्यों नहीं की गई।

चीफ जस्टिस द्वारा जारी आदेश में कहा गया है कि हिंसा के मामले को लेकर सरकार की कार्रवाई से कोर्ट खुश नहीं है। कोर्ट ने कहा कि घटनाक्रम के सबूत नष्ट न हो। इसका पूरा ख्याल रखा जाए। यूपी सरकार की और कोर्ट में दाखिल स्टेटस रिपोर्ट में पोस्टमार्टम रिपोर्ट का जिक्र किया गया है। घटनास्थल से दो कारतूस भी मिले हैं। वहीं मामले की जांच के एसआईटी का भी गठन किया गया है।

इसे भी पढ़ें : CM योगी ने अखिलेश यादव पर साधा निशाना, कहा – शिवपाल को अपमानित करके बहार किया, होना चाहिए था सम्मान

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -