Saturday, October 16, 2021

लखीमपुर खीरी हिंसा : 14 दिन की न्यायिक हिरासत में आशीष मिश्रा को भेजा गया जेल, फरार आरोपियों की तलाश जारी

- Advertisement -
- Advertisement -

खीमपुर खीरी हिंसा के मुख्य आरोपी केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा को पुलिस ने पूछताछ के बाद शनिवार को गिरफ्तार कर 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। स्पेशल रिमांड मजिस्ट्रेट दीक्षा भारती की कोर्ट में पुलिस ने आशीष से पूछताछ के लिए कस्टडी रिमांड के लिए अर्जी दी है। इस पर सोमवार को सुनवाई होगी। बताया जा रहा है कि आशीष की गिरफ्तारी हत्या, आपराधिक साजिश, दुर्घटना में मौत, लापरवाही से वाहन चलाने की धाराओं में हुई है। पुलिस आरोपी को हिरासत में लेकर सख्त पूछताछ करेगी। आशीष और अन्य आरोपियों को एक साथ बैठाकर भी पूछताछ होगी।

इसे भी पढ़ें : लखीमपुर खीरी हिंसा के खिलाफ किसान मोर्चा का बड़ा ऐलान, 18 रेल रोको आंदोलन, 26 को लखनऊ में महापंचायत

गौरतलब है कि, हिंसा का मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा शनिवार को सुबह 10 बजकर 38 मिनट पर क्राइम ब्रांच के दफ्तर पहुंचा था। आरोपी को क्राइम ब्रांच की ओर से सुबह 11 बजे तक पेश होने के लिए समन जारी किया गया था। आरोपी आशीष क्राइम ब्रांच के ऑफिस लखीमपुर खीरी सदर के विधायक योगेश वर्मा के साथ स्कूटर से क्राइम ब्रांच के दफ्तर पहुंचा।

शनिवार सुबह से ही क्राइम ब्रांच के ऑफिस में पुलिस-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी और एसआईटी की टीम आशीष से पूछताछ करने के लिए मौजूद थी। एसडीएम सदर भी क्राइम ब्रांच के ऑफिस में ही मौजूद थे। जहां मजिस्ट्रेट को भी बुला लिया गया था। इसके बाद आरोपी के बयान मजिस्ट्रेट के सामने ही दर्ज किये गए। एसआईटी ने आशीष के आलावा अंकित दास और सुमित जायसवाल को भी आरोपी बनाया है। इनकी गिरफ्तारी के लिए लखीमपुर खीरी से लेकर लखनऊ पुलिस की कई टीमें दबिश डाल रही हैं लेकिन आरोपी फरार हैं। बताया जा रहा है कि जल्द ही दोनों की गिरफ्तारी भी संभव है।

ज्ञात हो कि, लखीमपुर हिंसा में 8 लोगों की मौत हुई हैं। आशीष और उनके साथियों पर दर्ज एफआईआर के अनुसार, केंद्रीय मंत्री का बेटा उस कार में मौजूद था, जिससे किसानों को कुचला गया है। इसके आलावा उस पर फायरिंग करने का भी आरोप लगाया गया है।

इसे भी पढ़ें : 15 लाख सरकारी कर्मचारियों को योगी सरकार का बड़ा तोहफा, दिवाली से पहले मिलेगा बोनस!

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -