Saturday, October 16, 2021

मनीष गुप्ता हत्या कांड : मनीष को फर्श पर घसीटते हुए दिखी पुलिस, CCTV फुटेज के सामने आने से उड़े आरोपियों के होश

- Advertisement -
- Advertisement -

गोरखपुर। कानपुर के कारोबारी मनीष गुप्ता की गोरखपुर के एक होटल में पुलिस द्वारा हुई पिटाई के बाद मौत मामले में एक नया सनसनीखेज खुलासा हुआ है। घटना का एक सीसीटीवी फुटेज सामने आया है। यह वीडियो उस रात का है जब पुलिस वाले मनीष के कमरे में पहुंचे थे। इस वीडियो में दिखाई दे रहा है कि जब मनीष को पुलिस वाले खींचते हुए होटल के कमरे बाहर ला रहे हैं तो उसके शरीर में कोई हरक़त नहीं है। इस दौरान पुलिस वालों ने होटल स्टाफ की मदद से मनीष को जीप तक ले गई थी।

इसे भी पढ़ें : लखीमपुर खीरी हिंसा : अजय मिश्रा ने अमित शाह से की मुलाकात, मामले को लेकर दी सफाई, जानें क्या कहा…

घटना के दिन का वीडियो सामने आने के बाद साफ़ हो गया है कि 27 सितंबर की रात जब मनीष गुप्ता को पुलिसकर्मी कमरा नंबर 512 से बाहर लाए, तो उनके शरीर में कोई हरकत नहीं थी। इंस्पेक्टर जगत नारायण सिंह और जगत नारायण ने ही मनीष को दूसरे दरोगा और पुलिसकर्मियों के साथ लिफ्ट से नीचे भिजवाया था। खास बात यह है कि, पहले कहा जा रहा था कि घटना का सीसीटीवी फुटेज गायब बताया जा रहा था लेकिन अब ये एसआईटी के पास मौजूद है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, तत्कालीन चौकी इंचार्ज अक्षय मिश्रा रात 12 बजकर 10 मिनट पर मनीष को कमरे से बाहर लेकर आए थे।

इस समय मनीष के शरीर में कोई हरक़त नहीं थी। इसके बाद होटल के दो स्टॉफ की मदद से मनीष को लिफ्ट से नीचे उतरवाया गया था। पुलिस का कहना था कि जब उन्होंने मनीष को हॉस्पिटल पहुंचाया तो वो होश में था। मनीष को जब कमरे से बाहर ले जाया गया था तब उनके शरीर पर अंडरवियर था। इसके बाद पुलिस ने तौलिया लपेटा था। होटल के कमरे में मिले तौलिया पर मनीष के खून के निशान भी है। माना जा रहा है कि जब मनीष को होटल स्टाफ ने पुलिस की जीप में उन्हें बैठा दिया था। तो उसके बाद ही स्टाफ ने वो खून से लथपथ तौलिया उनके रूम में रख दिया होगा।

इसे भी पढ़ें : UP: तेज रफ्तार डबल डेकर बस और ट्रक में भीषण टक्कर, 13 की मौत, कई की हालत गंभीर

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -