spot_img
Friday, September 17, 2021

दुष्कर्म पीड़िता आत्मदाह मामले में बढ़ी पूर्व आईपीएस की मुश्किलें, लखनऊ पुलिस ने किया गिरफ्तार

- Advertisement -
- Advertisement -

खनऊ पुलिस (Lucknow Police) ने पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर (Amitabh Thakur) को दुष्कर्म पीड़िता आत्मदाह के लिए उकसाने के आरोप में गिरफ्तार किया है। मंगलवार को एसआईटी ने अमिताभ ठाकुर और आईपीएस अमित पाठक से पूछताछ की थी, जिसके बाद शुक्रवार को उन्हें एसआईटी जांच की रिपोर्ट के आधार पर गिरफ्तार किया गया है। विशेष जांच समिति में डीजी आरके विश्वकर्मा और एडीजी मीरा रावत शामिल हैं। गौरतलब है कि पिछले दिनों सुप्रीम कोर्ट के गेट के सामने बसपा सांसद अतुल राय पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली युवती ने अपने एक साथी के साथ आत्मदाह कर लिया था।

इसे भी पढ़ें : राकेश टिकैत का बड़ा ऐलान, कहा – UP में करेंगे महापंचायत, लखनऊ का होगा घेराव

आत्मदाह से करने से कुछ क्षण पहले ही पीड़िता ने फेसबुक लाइव करते उत्तर प्रदेश अधिकारियों सहित समेत अन्य लोगों पर परेशान करने और दबाव बनाने का आरोप लगाया था। इस पोस्ट के बाद ही युवती ने और उसके साथ ने आत्मदाह कर दिया था और इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई थी। पीड़िता बलिया की रहने वाली थी, जो वाराणसी के एक कॉलेज पढ़ाई कर रही थी। फेसबुक लाइव में पीड़िता ने वाराणसी के तत्कालीन एसएसपी रहे अमित पाठक, सीओ भेलुपुर अमरेश सिंह बघेल, दरोगा संजय राय सहित अन्य लोगों पर सांसद को बचाने और उसे (पीड़िता) परेशान करने का आरोप लगाया था।

शुक्रवार को अमिताभ ठाकुर द्वारा नई राजनीतिक पार्टी बनाने का ऐलान करने के कुछ घंटे बाद लखनऊ पुलिस उनके घर पहुंच गई और उन्हें हाउस अरेस्ट कर लिया गया था। इसकी जानकारी भी पूर्व आईपीएस ने ट्वीट करके दी। उन्होंने एक वीडियो शेयर करते हुए लिखा कि ‘मेरे अयोध्या गोरखपुर यात्रा के निकट आते ही और नई राजनैतिक पार्टी की घोषणा करने के बाद मुझे दोबारा नज़रबंद कर दिया गया,अजीबोगरीब स्थिति ! मानो कानून का नहीं, किसी व्यक्ति विशेष का राज हो! सरकार को इतना डर?

ज्ञात हो कि, लखनऊ पुलिस ने 21 अगस्त को अमिताभ ठाकुर को नजरबंद कर दिया था। इससे पहले अमिताभ ठाकुर ने बड़ा ऐलान करते हुए कहा था कि ‘वो आगामी विधानसभा चुनाव में सीएम योगी आदित्यनाथ के खिलाफ चुनाव लड़ेंगे। रिटायर्ड आईपीएस ने ट्वीट करके कहा था कि ‘मुझे मेरे कई साथी लगातार उनके खिलाफ चुनाव लड़ने के लिए कह रहे हैं। इन बातों पर मैंने गंभीरता से विचार किया, जिसके बाद मैंने चुनाव लड़ने का फैसला किया है। मैं निश्चित रूप से उनके खिलाफ चुनाव लडूंगा।’

इसे भी पढ़ें : बाढ़ का कहर : खनुआ नदी में डूब कर 3 बच्चों की मौत, गांव में छाया मातम

- Advertisement -
spot_img
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -