Saturday, October 16, 2021

केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा ‘टेनी’ के बेटे आशीष सहित 14 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज

- Advertisement -
- Advertisement -

लखीमपुर खीरी। यूपी के लखीमपुर खीरी जिले में केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के काफिले की कथित गाड़ी से हुई दुर्घटना के बाद पूरे प्रदेश में तनाव बना हुआ है। हिंसा के बाद केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा के सहित 14 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। इन सभी के खिलाफ लखीमपुर के तिकुनिया थाने में बहराइच नानपारा के जगजीत सिंह की तहरीर पर बलवा, हत्या, और आपराधिक साजिश सहित अन्य गंभीर धाराओं में एफआईआर दर्ज किया गया है।

इसे भी पढ़ें : प्रदर्शनकारी किसानों पर बीजेपी सांसद के पुत्र ने चढ़ाई कार तीन की मौत, कई घायल

लखीमपुर मामले में बढ़ते बवाल पर केंद्रीय गृह राज्‍यमंत्री अजय मिश्रा ने सफाई देते हुए कहा है कि किसानों के बीच छुपे हुए कुछ उपद्रवी तत्वों ने उनकी (बीजेपी कार्यकर्ताओं) के वाहनों पर हमला किया। पहले पथराव किया, जिसके बाद उन्हें गाड़ियों से बाहर खींचकर उन पर लाठी-डंडों और तलवारों से हमला किया गया। इसके वीडियो भी हमारे पास हैं। उपद्रवियों ने सड़क से नीचे गाड़ियों को गिराकर उसमे आग लगा दी।

दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा – सीएम
लखीमपुर खीरी घटना को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि ‘दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर लिखा है कि ‘घटना दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण है, हम तह तक जाएंगे और हिंसा में शामिल सभी को बेनकाब करेंगे, दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा।’ रविवार शाम को लखीमपुर घटना के बाद योगी सरकार ने बड़ी बैठक भी की है। सीएम को एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने बैठक में घटना की पूरी जानकारी दी है।

हिरासत में प्रियंका
पुलिस द्वारा प्रियंका वाड्रा को लखीमपुर जाने की कोशिश में हिरासत में लिए जाने के बाद उन्हें सीतापुर के सेकेंड बटालियन में लाया गया। उनके आने की जानकारी मिलते ही कांग्रेसियों का पहुंचना शुरू हो गया। पूर्व जिला अध्यक्ष विनीत दीक्षित के नेतृत्व में कांग्रेस के कई कार्यकर्ता सेकेंड बटालियन गेट के बाहर धरने पर बैठकर नारेबाजी कर रहे थे।

प्रियंका के साथ कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय सिंह लल्लू, एमएलसी दीपक सिंह सहित अन्य कई वरिष्ठ कांग्रेस नेता भी हिरासत में लिए गए हैं। पुलिस अधिकारियों के अनुसार यहां से इन्हें वापस लखनऊ भेज दिया जाएगा। समाचार भेजे जाने तक प्रियंका वाड्रा सहित अन्य कई बड़े कांग्रेसी सीतापुर के सेकेंड बटालियन में ही थे।

इसे भी पढ़ें : कार से कुचल कर तीन किसानों की मौत पर बीकेयू आक्रोशित, प्रदेश में चढ़ा सियासी पारा

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -