Wednesday, December 7, 2022

गाय हमारे लिए माता है लेकिन कुछ लोगों ने गाय और गोबर को गुनाह बना दिया : PM मोदी

महिलाओं के लिए पशुपालन आगे बढ़ने और सक्षम होने का एक जरिया है। जैविक खेती, पशुधन बायोगैस और प्राकृतिक खेती का बड़ा आधार है। जो पशु दूध नहीं देते हैं, जो बोझ नहीं होते हैं बल्कि आय बढ़ाने का वो भी एक जरिया हैं।

- Advertisement -
- Advertisement -

वाराणसी के करखियांव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को 870 करोड़ से ज्यादा की लागत वाली 22 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण किया। वहीं 1225.51 करोड़ की पांच परियोजनाओं की आधारशिला भी रखी। ‘महादेव’ को याद करते हुए पीएम ने अपना संबोधन शुरू किया। उन्होंने कहा कि, वाराणसी के किसानों और पशुपालकों के लिए आज का दिन काफी बड़ा दिन है। प्रधानमंत्री ने 2100 करोड़ की 27 परियोजनाओं को अपने संसदीय क्षेत्र की जनता को समर्पित किया। इस दौरान उन्होंने देश के पूर्व पीएम चौधरी चरण सिंह को भी याद किया।

इसे भी पढ़ें : PM ने कहा – रोज 1 ग्लास पीजिए एक्स्ट्रा दूध, चौंका देगी इसके पीछे की बड़ी वजह

प्रधानमंत्री ने कहा कि कुछ लोगों ने हमारे यहां गाय और गोबर धन की बात करने को गुनाह बना दिया है। कुछ लोगों के लिए गाय गुनाह हो सकती है लेकिन हमारे लिए गाय माता है। गाय का मजाक उड़ाने वाले लोग भूल जाते हैं कि देश के आठ करोड़ लोगों की आजीविका इसी पशुधन से चलती है। हर साल देश में साढ़े आठ लाख करोड़ के दूध का उत्पादन करता होता है।

किसानों-पशुपालकों को होगा बड़ा फायदा
प्रधानमंत्री ने कहा कि पूर्वांचल के लगभग छह जिलों के लोगों को बनास डेयरी संयंत्र से न सिर्फ नौकरी मिलेगी बल्कि किसानों और पशुपालकों को भी काफी लाभ होगा। उत्तर प्रदेश में लाखों लोगों को आज उनके घरों के दस्तावेज भी सौंपे गए हैं। 1500 करोड़ से ज्यादा की योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास हुआ है,जिससे वाराणसी की तस्वीर बदल जाएगी।

पीएम ने कहा कि एक जमाना था कि जब हमारे आंगन में मवेशियों की मौजूदगी संपन्नता की पहचान थी। उन्होंने कहा कि, कामधेनू आयोग का गठन हमने डेयरी सेक्टर के लिए किया, जिसके साथ ही पशुपालकों को किसान क्रेडिट कार्ड से भी जोड़ा है। सरकार ने पशुओं के चारे और घर पर इलाज के लिए भी देशव्यापी अभियान चलाया। पशुओं को सभी टीके सरकार ने मुफ्त लगवाए हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि, आज उत्तर प्रदेश देश का सबसे बड़ा दुग्ध उत्पादक राज्य है। देश के डेयरी सेक्टर, पशुपालन और श्वेत क्रांति में आ रही नई ऊर्जा से किसानों की आर्थिक स्थिति में काफी सुधार हो सकता है। 10 करोड़ छोटे किसानों के लिए यह आय का अतिरिक्त साधन बन सकता है। विश्व का काफी बड़ा बाजार भारत के डेयरी प्रोडक्ट के पास है।

पशुपालन महिलाओं के लिए आगे बढ़ने का जरिया
पीएम ने कहा कि, महिलाओं के लिए पशुपालन आगे बढ़ने और सक्षम होने का एक जरिया है। जैविक खेती, पशुधन बायोगैस और प्राकृतिक खेती का बड़ा आधार है। जो पशु दूध नहीं देते हैं, जो बोझ नहीं होते हैं बल्कि आय बढ़ाने का वो भी एक जरिया हैं।

इसे भी पढ़ें : अखिलेश यादव के बाद मायावती ने किया PM मोदी के इस कदम का समर्थन, जानें वजह

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -

https://www.aprendainglesozinho.com.br/profile/situs-judi-slot-terbaik-dan-terpercaya-no-1/profile

https://www.kubedliving.com/profile/situs-judi-slot-terbaik-dan-terpercaya-no-1/profile

https://www.foresixty.com/profile/situs-judi-slot-terbaik-dan-terpercaya-no-1-2022/profile

https://www.sciencefilm.ch/profile/situs-judi-slot-terbaik-dan-terpercaya-no-1/profile

https://www.truelovesband.com/profile/situs-judi-slot-terbaik-dan-terpercaya-no-1/profile

https://www.aprendainglesozinho.com.br/profile/judi-slot-online-jackpot-terbesar/profile

https://www.kubedliving.com/profile/daftar-judi-slot-online-jackpot-terbesar/profile

https://www.foresixty.com/profile/daftar-judi-slot-online-jackpot-terbesar/profile

https://www.sciencefilm.ch/profile/judi-slot-online-jackpot-terbesar/profile

https://www.truelovesband.com/profile/judi-slot-online-jackpot-terbesar/profile

https://www.kubedliving.com/profile/slot-gacor-gampang-menang/profile

https://www.foresixty.com/profile/situs-slot-gacor-gampang-menang/profile

https://www.sciencefilm.ch/profile/slot-gacor-gampang-menang/profile

https://www.truelovesband.com/profile/situs-slot-gacor-gampang-menang/profile

https://www.aprendainglesozinho.com.br/profile/slot-gacor-gampang-menang/profile

https://www.kubedliving.com/profile/info-slot-gacor-hari-ini/profile

https://www.foresixty.com/profile/info-slot-gacor-hari-ini/profile

https://www.sciencefilm.ch/profile/info-slot-gacor-hari-ini/profile

https://www.truelovesband.com/profile/info-slot-gacor-hari-ini/profile

https://www.aprendainglesozinho.com.br/profile/info-slot-gacor-hari-ini/profile