योगी के गढ़ में बढ़ा कोरोना का संक्रमण, इस माफिया को आरेस्ट करने वाले सीओ भी हुए संक्रमित

56

गोरखपुर। कोरोना वायरस का कहर लगातार देश में बढ़ता जा रहा है। इसकी गिरफ्त में आने से देश का कोई कोना अछूता नहीं है। ऐसे में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गृह जनपद गोरखपुर में भी कोरोना का कहर लगातार तेजी से बढ़ रहा है। गोरखपुर में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमित मरीजों के आकाड़े, जिला प्रशासन की मुश्किलें बढ़ रही हैं। ग्रामीण इलाके के मुकाबले अब शहरवासियों में संक्रमण बढ़ रहा है। बीते बुधवार को सीओ गोरखनाथ और दो निजी डॉक्टर समेत 68 नए कोरोना पॉजिटिव केस सामने आने से हड़कंप मचा है। जिले में एक्टिव मरीजों की संख्या 575 हो गयी है। गोरखपुर में गांव के मुकाबले शहर की हालात और खराब होती जा रही है। क्योंकि बीते बुधवार को 68 कोरोना संक्रमित में शहर के 47 लोग शामिल हैं।  जिले में संक्रमितों की कुल संख्या संख्या 1275 हो गई है। इनमें 670 मरीज ठीक होकर घर जा चुके हैं। जबकि 30 की मौत हो चुकी है।

यह भी पढ़ें:-योगी सरकार हुई सख्त, अगर साल भर में नहीं लगाई इंडस्ट्री तो होगी बड़ी कार्रवाई

मौजूदा समय में बीआरडी, रेलवे और स्पोर्ट्स कॉलेज में 575 मरीजों का इलाज चल रहा है। गौरतलब है कि गोरखनाथ सर्किल के सीओ की रिपोर्ट बुधवार को पॉजिटिव आई है। इसकी पुष्टि उन्होंने खुद की है। मौजूदा समय में वह फातिमा हॉस्पिटल में भर्ती हैं। बता दें कि कुछ दिन पहले सीओ गोरखनाथ के गनर की भी रिपोर्ट पॉजिटिव आयी थी। ऐसे में सीओ गोरखनाथ के संक्रमित होने की आशंका जतायी जा रही थी। इसके अलावा आरोग्य मंदिर क्षेत्र में रहने वाले 51 साल के निजी डॉक्टर और एलिमिनियम फैक्ट्री के पास रहने वाले 37 साल के निजी डॉक्टर की रिपोर्ट भी पॉजिटिव मिली है। इसके अतिरिक्त शहर के बसंतपुर इलाके में छह लोग पॉजिटिव मिले हैं। इनमें शीतला माता मंदिर के पास के एक ही परिवार के तीन लोग कोरोना पॉजिटिव के तौर पर शामिल हैं।

यह भी पढ़ें:-अंधविश्वास के चलते एक शख्स ने बुजुर्ग का सिर काट कर बलि चढ़ाई बलि

माफिया पर कसी नकेल- गौरतलब है कि सीओ गोरखनाथ के पास सीओ क्राइम का भी महत्वपूर्ण चार्ज है। ऐसे में उनके संक्रमित होने से जिले में अपराधियों पर नकेल कसने की पुलिस की कवायद पर ब्रेक लगाने की आशंका है। सीओ की अगुवाई में जिले बड़े बदमाशों पर नकेल कसी गयी है। हाल के दिनों में माफिया राकेश यादव पर शिकंजा कसने पर जहां उसने कोर्ट में सरेडर किया था। वहीं जिले के टॉप टेन माफिया व डॉन विनोद उपाध्याय को क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार कर जेल भेजा है।

यह भी पढ़ें:-डॉक्टर ने पेश की मिसाल, पहले खून दिया, फिर किया यह बड़ा काम